Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,782
मामले (भारत)
201,005,476
मामले (दुनिया)
×

घोड़े पर सवार होकर स्कूल जाता है 5वीं का छात्र, सीएम शिवराज चौहान ने की तारीफ

बस नहीं चली तो घोड़े को ही बना लिया अपना साथी

घोड़े पर सवार होकर स्कूल जाता है 5वीं का छात्र, सीएम शिवराज चौहान ने की तारीफ

- Advertisement -

स्कूल जाने के लिए बच्चे मां-बाप से तरह-तरह की डिमांड करते हैं। कोई कहता है साइकिल दिला दो तो कोई कहता है हमको गाड़ी में छोड़ कर आओ। ज्यादातर बच्चे बसे औऱ ऑटो से स्कूल जाते हैं। क्या कभी आपने किसी बच्चे को घोड़े पर सवार होकर स्कूल जाते देखा है ? अगर नहीं तो हम आपको मिलवाते हैं ऐसे एक बच्चे से। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के खंडवा जिले के एक छोटे से गांव में रहने वाला शिवराज हर दिन स्कूल घोड़े पर सवार होकर जाता है। स्कूल से गांव की दूरी 5 किलोमीटर है। अपने घर से स्कूल जाने के लिए जब वह घोड़े पर सवार होकर निकलता है तो लोग देखते रह जाते हैं। शिवराज के स्कूल जाने की तस्वीरें जब सामने आईं तो एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने भी तारीफ की है।

यह भी पढ़ें: चोरी करते पकड़ा गया तो क्यूट डॉगी ने बनाई ऐसी शक्ल, किसी का भी पिघल जाएगा दिल

 


खंडवा जिला मुख्यालय से 60 किलोमीटर दूर एक छोटा सा गांव बोराड़ी माल है। 12 साल का शिवराज इसी गांव में रहता है और पांचवीं कक्षा का छात्र है। कोरोना (Corona) की वजह से स्कूल बंद था। स्कूल फिर से खुला तो बस चालू नहीं हुई। ऐसे में शिवराज के सामने मुश्किल यह थी कि वह स्कूल (School) कैसे पहुंचे। कुछ दिन वह साइकल से स्कूल जाना शुरू किया, लेकिन रास्ता खराब है जिसकी वजह से वह गिर जाता था। ऐसे में शिवराज के घर में उसके पिता ने कुछ दिन पहले ही एक घोड़ा खरीदा था। घोड़े का नाम राजा है। उससे शिवराज की यारी अच्छी है। वह गांव में पहले भी घोड़े को दौड़ता रहा है। ऐसे में स्कूल जाने के लिए भी उसने घोड़े का सहारा लिया। स्कूल पहुंचने के बाद शिवराज कैंपस में ही घोड़े को बांध देता है।

शिवराज जब अपने गांव से स्कूल जाने के लिए निकलता है, तो उसे देखने के लिए लोग खड़े हो जाते हैं क्योंकि शिवराज काफी उम्र में घोड़े की सवारी कर रहा है। दरअसल, शिवराज के पिता देवराम यादव बोराड़ीमल में रहते हैं। देवराम यादव ने बताया कि मैं किसान हूं। समय पर इसे स्कूल पहुंचाना मेरे लिए संभव नहीं है। घोड़े से उसकी दोस्ती है, इसलिए उसी से जाता है। शिवराज से उसके टीचर भी काफी खुश हैं क्योंकि वो स्कूल में कभी छुट्टी नहीं करता।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है