Covid-19 Update

2,27,354
मामले (हिमाचल)
2,22,669
मरीज ठीक हुए
3,833
मौत
34,606,541
मामले (भारत)
264,096,760
मामले (दुनिया)

SJVN ने विद्युत मंत्रालय भारत सरकार के साथ समझौता ज्ञापन पर किए हस्ताक्षर

एसजेवीएन द्वारा "सर्वोत्तम" श्रेणी के तहत वर्ष के दौरान 9680 मिलियन यूनिट बिजली उत्पादन किया जाना है

SJVN ने विद्युत मंत्रालय भारत सरकार के साथ समझौता ज्ञापन पर किए हस्ताक्षर

- Advertisement -

शिमला। एसजेवीएन लिमिटेड ने भारत सरकार के साथ वर्ष 2020-21 के लिए मंगलवार को एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। इस समझौता ज्ञापन (MOU) पर भारत सरकार के सचिव (विद्युत), एसएन सहाय तथा एसजेवीएन (SJVN)  के अध्य्क्ष एवं प्रबंध निदेशक नंद लाल शर्मा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हस्तासक्षर किए। समझौता ज्ञापन में निर्धारित लक्ष्यों के अनुसार एसजेवीएन द्वारा “सर्वोत्तम” श्रेणी के तहत वर्ष के दौरान 9680 मिलियन यूनिट बिजली उत्पादन किया जाना है। इसके अलावा प्रचालनात्मरक कार्यकुशलता तथा परियोजना निगरानी से संबंधित अन्य लक्ष्यों के साथ एसजेवीएन के लिए सर्वोत्तम श्रेणी के तहत 2880 करोड़ रुपए के पूंजीगत व्यय (कैपेक्स) तथा 2800 करोड़ रुपए के टर्नओवर का लक्ष्य रखा गया है।

यह भी पढ़ें: Himachal में 530 हेड मास्टर और लेक्चरर बने प्रिंसिपल, पर वेतन बढ़ोतरी को करना होगा इंतजार

 

 an example image

 

समझौता ज्ञापन पर हस्ताहक्षर के समय एसजेवीएन से निदेशक (कार्मिक) गीता कपूर, निदेशक (सिविल) एसपी बंसल, निदेशक (वित्त) एके सिंह तथा निदेशक (विद्युत) सुशील शर्मा सहित अन्यि वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। कार्यक्रम के दौरान नंद लाल शर्मा ने सचिव (विद्युत) को अवगत कराया कि 2016 मेगावाट की स्थापित क्षमता के साथए एसजेवीएन ने अपने शेयरधारकों को गत वित्तीय वर्ष के 844.91 करोड़ रुपए की तुलना में वित्तीय वर्ष 2019.20 के दौरान 864.56 करोड़ रुपए का लाभांश अदा किया है। उन्होंने आगे बताया कि एसजेवीएन ने 100 मेगावाट की धोलेरा सौर विद्युत परियोजना तथा 100 मेगावाट की राघनेसड़ा सौर विद्युत परियोजना गुजरात उर्जा निगम लिमिटेड (जीयूवीएनएल) से क्रमश 2.80 रुपए प्रति यूनिट तथा 2.73 प्रति यूनिट की दर से प्राप्त की है।

हिमाचल, उत्तराखंड, नेपाल और भूटान में 13 जलविद्युत परियोजनाओं को कर रहा कार्यान्वित

नंद लाल शर्मा ने यह भी बताया कि एसजेवीएन हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, नेपाल और भूटान में 13 जलविद्युत परियोजनाओं को कार्यान्वित कर रहा है। इसके अलावा एसजेवीएन बिहार में 1320 मेगावाट की बक्सर ताप विद्युत परियोजना भी बना रहा है। उन्होंने आगे कहा कि एसजेवीएन भारत तथा पड़ोसी देशों में विद्युत परियोजनाओं की संभावना तलाश रहा है तथा एसजेवीएन नेपाल एवं अरुणाचल प्रदेश सरकार के साथ उनके क्षेत्रों में जलविद्युत क्षमता का दोहन करने के लिए भी बातचीत कर रहा है। टीम एसजेवीएन में अपना यकीन जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि एसजेवीएन सन 2023 तक 5000 मेगावाट, सन 2030 तक 12000 मेगावाट तथा सन 2040 तक 25000 मेगावाट के लक्ष्य के पथ पर तेजी से आगे बढ़ रहा है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel

 

 an example image

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है