Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल के पहाड़ों पर #Snowfall का दौर, दारचा से आगे वाहन ले जाने पर रोक

मौसम विभाग ने बर्फबारी और बारिश का यलो अलर्ट जारी किया

हिमाचल के पहाड़ों पर #Snowfall का दौर, दारचा से आगे वाहन ले जाने पर रोक

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी। हिमाचल प्रदेश के ऊंचाई वाले इलाकों में आज सुबह से ही बर्फबारी(#Snowfall)का दौर चल रहा है। प्रदेश के दुर्गम जिलों लाहुल-स्पीति, किन्नौर के साथ कुल्लू के पर्वतीय इलाकों व कांगड़ा की धौलाधार पर्वत श्रृंखला पर बर्फबारी का दौर जारी है। सोलंगनाला व लाहुल के सिस्‍सू, कोकसर, दारचा में ताजा बर्फबारी हो रही है। मौसम विभाग ( #Meteorological Department)की ओर 25 नवंबर को चंबा, कांगड़ा, कुल्लू, मंडी, शिमला, किन्नौर व लाहुल-स्पीति जिलों में भारी बर्फबारी और बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के निदेशक डा. मनमोहन सिंह का कहना है कि बुधवार को समूचे जनजातीय क्षेत्रों में बर्फबारी और निचले व मध्यम क्षेत्रों में बारिश होने की संभावना है। प्रदेश के निचले इलाकों में आसमान में बादल छाए हुए हैं। ऊंचाई वाले इलाकों बर्फ गिरने से निचले इलाकों में शीतलहर तेज हो गई है। बर्फबारी शुरू होते ही लाहुल-स्पीति जिला प्रशासन ने मनाली-लेह मार्ग पर दारचा से आगे वाहन ले जाने पर रोक लगा दी है। लाहुल-स्पीति के एसपी मानव वर्मा ने बताया कि मनाली-लेह मार्ग पर वाहनों की आवाजाही अब मौसम पर ही निर्भर करेगी।


ये भी पढ़ेः Himachal में पांच दिन बारिश-बर्फबारी की चेतावनी के बाद छह जिलों में #Yellow_Alert जारी

पांच दिन बारिश-बर्फबारी की चेतावनी

मौसम विज्ञान केंद्र (#Meteorological Department) शिमला के अनुसार अगले 26 नवंबर तक मौसम खराब बना रहेगा। मध्य पर्वतीय क्षेत्रों चंबा, कांगड़ा, मंडी, कुल्लू और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों किन्नौर व लाहुल-स्पीति में 25 नवंबर को भारी बारिश और बर्फबारी की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग ने इन जिलों के लिए येलो अलर्ट (Yellow Alert) जारी किया है। जबकि प्रदेश के मध्य व उच्च पर्वतीय भागों में 22 से 26 नवंबर तक बारिश और बर्फबारी की संभावना है। वहीं, मैदानी जिला ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर और कांगड़ा में मौसम साफ रहने के आसार हैं। हालांकि 25 नवंबर को इन जिलों में बारिश होने की संभावना है। वहीं, रविवार दोपहर बाद से शिमला (Shimla) समेत प्रदेश के कई अन्य भागों में मौसम खराब होना शुरू हो गया है। इससे तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है।

 

 

चंबा लोगों को एहतियात बरतने की सलाह

चंबा जिला प्रशासन ने पांगी व भरमौर के अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हिमस्खलन होने की चेतावनी जारी करते हुए लोगों को एहतियात बरतने की सलाह दी है। रक्षा भू सूचना विज्ञान अनुसंधान स्थापना मनाली द्वारा जारी चेतावनी बुलेटिन के मद्देनजर चंबा जिला प्रशासन ने भी जिला के विशेषकर पांगी और भरमौर क्षेत्रों के अधिक ऊंचाई वाले भाग में हिमस्खलन होने की चेतावनी को देखते हुए लोगों को पूरी एहतियात बरतने की सलाह दी है। डीसी राणा ने बताया कि रक्षा भू सूचना विज्ञान अनुसंधान स्थापना मनाली द्वारा यह चेतावनी बुलेटिन 23 नवंबर तक की अवधि के लिए जारी किया है। लोग मौसम खराब होने के बाद हिमपात होने की सूरत में इस तरह के संवेदनशील इलाकों का रुख कदापि ना करें और सुरक्षित स्थान पर ही रहें। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदा में जागरूकता भी काफी हद तक आपदा के नुकसान को न्यूनतम करने में सहायक रहती है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है