Covid-19 Update

2, 85, 012
मामले (हिमाचल)
2, 80, 818
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,138,393
मामले (भारत)
527,842,668
मामले (दुनिया)

करूणामूलक संघ ने सरकार की सद्बुद्धि के लिए करवाया यज्ञ, विधानसभा घेराव करने की दी चेतावनी

मांगे ना मानी तो सभी विधानसभा क्षेत्रों में किया जाएगा आंदोलन- करूणामूलक संघ

करूणामूलक संघ ने सरकार की सद्बुद्धि के लिए करवाया यज्ञ, विधानसभा घेराव करने की दी चेतावनी

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश के जिला शिमला में प्रदेश करुणामूलक संघ (State Compassionate Association) पिछले 131 दिन से अपनी मांगो को लेकर क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे हैं। संघ ने मंगलवार को प्रदेश सरकार (Himachal Government) की सद्बुद्धि के लिए जिला शिमला में सद्बुद्धि पाठ करवाया। संघ का कहना है कि प्रदेश सरकार की भ्रष्ट हो चुकी बुद्धि के लिए सद्बुद्धि यज्ञ किया गया है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: एबीवीपी ने क्यों खत्म कर दी अपनी भूख हड़ताल, क्या है उनकी मांगे; यहां जाने

करुणामूलक संघ के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार ने कहा कि संघ 131 दिन से क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठा है। इस दौरान संघ को बारिश, सर्दी व अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ा, लेकिन सरकार ने उनकी कोई सुध नहीं ली है। उन्होंने कहा कि सरकार की बुद्धि भ्रष्ट हो गई है, जिसके लिए आज यहां पूजा पाठ किया गया है। उन्होंने बताया कि करुणामूलक संघ प्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र (Winter Session Assembly) के दौरान 13 दिसंबर को विधानसभा का घेराव करेंगे। अगर सरकार फिर भी नहीं जागी तो संघ 68 विधानसभा क्षेत्रों में जाकर सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगा।

यह भी पढ़ें: शिमला में दृष्टिबाधितों ने मनाया काला दिवस, प्रदर्शन कर दी भूख हड़ताल की चेतावनी

गौरतलब है कि प्रदेश करूणामूलक संघ समस्त विभागों, बोर्डों और निगमों में लंबित पड़े करुणामूलक आधार पर दी जाने वाली नौकरियों के केस जो कि 7 मार्च, 2019 की पॉलिसी में आ रहे हैं उनको वन टाइम सेटलमेंट के तहत सभी को एक साथ नियुक्तिया देने की मांग कर रहा है। इसके अलावा करुणामूलक आधार पर नौकरियों वाली पॉलिसी में संशोधन करने और उसमें रुपये 62500 एक सदस्य सालाना आय सीमा शर्त को पूर्ण रूप से हटाने व विभाग द्वारा अपने तौर पर नियुक्तियां देने के लिए 5% कोटा की शर्त को पूर्ण रूप से हटा देने, योग्यता के अनुसार आश्रितों को बिना शर्त के सभी श्रेणीयो में नौकरी देने, जिन लोगों के कोर्ट केस बहाल हो गए हैं उन्हें भी नियुक्तियां देने और जब किसी महिला आवेदक की शादी होती है और उसे पॉलिसी से बाहर किए जाने की शर्त को हटाने की मांग कर रहे हैं। बता दें कि करूणामूलक आधार पर सरकारी नौकरी देने के मामला दिन प्रतिदिन जोर पकड़ता जा रहा हैं पर अभी तक सरकार अपना रवैया स्पष्ट नहीं कर पायी है। जबकि सरकार के पास विभिन्न विभागों में करूणामूलक के लंबित करीब 4500 से ज्यादा मामले पहुंचे हैं और प्रभावित परिवार करीब 15 साल से नौकरी का इंतजार कर रहे हैं।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है