धरती पर सबसे ठंडे शहर की कहानीः पत्थर बन जाती है यहां खाने- पीने की चीजें

साइबेरिया के याकुटिका राज्य की कैपिटल याकुत्स्क में -40 डिग्री रहता हा पारा

धरती पर सबसे ठंडे शहर की कहानीः पत्थर बन जाती है यहां खाने- पीने की चीजें

- Advertisement -

उत्तर भारत में इस समय जम कर सर्दी पड़ रही है। हिमाचल सहित जम्मू, उत्तराखंड में पहाड़ बर्फ की सफेद चादरे ओढ़े हुए हैं। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी के चलते निचले इलाकों में पारा लुढ़क गया है। शीतलहर से जनजीवन पर असर पड़ा है। कई जगह पर तापमान माइनस में पहुंच गया है। जरा सोचिए दुनिया में ऐसे भी कई हिस्से हैं यहां कई फीट बर्फ गिकी है और तापमान पहुंच जाता है -40 या इससे भी कम। ऐसी जगहों पर रहना किसी चुनौती से कम नहीं। तो चलिए आज हम आप को ऐसे ही शहर के बारे में बताते हैं जहां खून जमाने वाली ठंड पड़ती है।


यह भी पढ़ें- इस खूबसूरत देश को क्यों कहते हैं कंट्री आफ मिड नाइट सन, पढ़े क्या है कारण.

ये शहर मगर रूस के साइबेरिया में पड़ता है और नाम है याकुत्स्क। यह शहर धरती का सबसे ठंडा माना जाता है। साइबेरिया के याकुटिका राज्य की कैपिटल याकुत्स्क मॉस्को के पूर्व में करीब 3100 मील दूर हैं। धरती के सबसे ठंडे इस शहर की आबादी 3.60 लाख है। अक्टूबर से अप्रैल तक यहां जमकर ठंड पड़ती है और यकीन मानिए गर्मियों के माह जुलाई में पारा 24 डिग्री के आसपास रहता है।

याकुत्स्क का तापमान सर्दियों में अमूमन -40 डिग्री तक रहता है जबकि शहर के बाहरी क्षेत्र में -70 डिग्री तक पहुंच जाता है। यहां ठंड का आलाम यह है कि खाने-पीने की चीजें जम कर पत्थर बन जाती हैं। पानी पीने के लिए बर्फ को पिघलाना पड़ता है। -71डिग्री तक पारा पहुंचने की वजह से अंडा इतना कड़ा हो जाता है कि हथौड़े से नहीं तोड़ा जा सकता। यहां के लोगों को ठंड में जीने के लिए कई कपड़े पहनने होते हैं। जो लोग यहां रहते हैं उनका कहना है कि शहर में रहने के दौरान आपको ठंड ज्यादा महसूस नहीं होती, क्योंकि इसके लिए दिमाग आपको तैयार कर देता है ।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है