Covid-19 Update

59,032
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
116,748,718
मामले (भारत)
11,192,088
मामले (दुनिया)

ज्यादा पढ़े- लिखे हैं Peon इसलिए नहीं धोते बर्तन, छात्राएं करती हैं उनका काम

ज्यादा पढ़े- लिखे हैं Peon इसलिए नहीं धोते बर्तन, छात्राएं करती हैं उनका काम

- Advertisement -

यमुनानगर। स्कूल में सफाई कर्मी या फिर चपड़ासी (Peon) से काम करवाना स्कूल प्रबंधन का काम है। अगर वे अधिक पढ़े-लिखे हो तो भी उनका काम उन्हीं को करना चाहिए पर हरियाणा के एक स्कूल मे ऐसा नहीं हो रहा है। यमुनानगर (YamunaNagar) में एक सरकारी स्कूल में छात्राओं द्वारा बर्तन साफ करने का मामला सामने आया। इस संबंध में बात जब टीचर्स तक पहुंची तो उनका कहना था कि स्कूल में चपड़ासी ज्यादा पढ़ा-लिखा है इसलिए वे उससे बर्तन साफ नहीं करवाते और बर्तन छात्राओं को साफ करने पड़ते हैं। उनका कहना था कि सरकार ने जो चपड़ासी और सफाई कर्मचारी नियुक्त किए हैं, वे ज्यादा पढ़े लिखे हैं। इसलिए उन्हें काम कहते अच्छा नहीं लगता।

यह भी पढ़ें: Kullu: धामण पुल के सेंटर चैनल टूटे, यातायात ठप-आउट सराज की 58 पंचायतों का संपर्क टूटा

इस संबंध में जब मामला शिक्षा अधिकारी के पास गया तो उनका कहना था कि मामले की जांच की जाएगी और जो भी दोषी पाया गया उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। सरकार की ओर से पिछले वर्ष ग्रुप डी की भर्ती के तहत सरकारी स्कूलों व विभागों में चपरासी व सफाई कर्मचारियों की भर्ती भी की गई हैं, लेकिन ज्यादा पढ़ाई लिखाई होने के कारण जहां उन्हें चपड़ासी का काम करने में दिक्कत आ रही है। वहीं अधिकारियों को उनसे काम करवाने में शर्म आ रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है