Covid-19 Update

2,00,085
मामले (हिमाचल)
1,93,830
मरीज ठीक हुए
3,418
मौत
29,823,546
मामले (भारत)
178,657,875
मामले (दुनिया)
×

अब इस पंचायत में मिले मरे चमगादड़, कल हो सकता है मौत के कारणों का खुलासा

अब इस पंचायत में मिले मरे चमगादड़, कल हो सकता है मौत के कारणों का खुलासा

- Advertisement -

रविंद्र चौधरी/फतेहपुर। जिला कांगड़ा (Kangra) में कोरोना वायरस के खौफ के बीच मरे हुए चमगादड़ मिलने का सिलसिला जारी है। अब लाड़थ पंचायत के साथ लगती भोल खास पंचायत में दो चमगादड़ मरे मिले हैं। इससे पहले आज राजा तालाब और लाड़थ में मरे हुए चमगादड़ मिले हैं। वेटरनरी विभाग ने मरे चमगादड़ के सैंपल ले लिए हैं। जांच के लिए जालंधर ले जाया गया है। कल तक रिपोर्ट आने की संभावना है।

यह भी पढ़ें: Kangra में मरे हुए चमगादड़ मिलने का सिलसिला जारी, आज फिर मिले

वहीं, विशेषज्ञ यह भी कयास लगा रहे हैं कि क्षेत्र में ओले गिरे हैं। हो सकता है कि इनकी मौत ओलो के चलते हुई हो। हालांकि, मौत के कारणों का पूरी तरह खुलासा रिपोर्ट के बाद ही हो पाएगा। वहीं, विशेषज्ञ ने चमगादड़ों के मरने का कोरोना से लिंक को नकारा है। कहना है कि वायरस से खुद चमगादड़ नहीं मर सकती है, बल्कि चमगादड़ खाने वाले को वायरस प्रभावित करता है।


बता दें कि कल तलवाड़ा रोड के नजदीक बतराहन बड़ी पंचायत के वार्ड नंबर 4 बांसा दा मोड़ चौंक में रविवार सुबह लगभग दस से बारह मरे हुए चमगादड़ मिले थे। कुछ चमगादड़ दो पलाख के वृक्षों पर मरे हुए लटके थे, जबकि कुछ जमीन पर मरे हुए पड़े मिले। नायब तहसीलदार, वाइल्ड लाइफ, वेटरनरी़ वन और पुलिस विभाग की टीम मौके पर पहुंची थी।


वेटरनरी विभाग की टीम ने मरे हुए चमगादड़ों के सैंपल पालमपुर और जालंधर जांच के लिए भेजे थे। इसके बाद इन चमगादड़ों को जला दिया था। सूचना मिलने के बाद राजा का तालाब और लाड़थ के लिए एक टीम रवाना हो गई है। एसडीएम फतेहपुर बलवान मंडोत्रा का कहना है कि सैंपल जांच के लिए भेज दिए हैं। एक-दो दिन में रिपोर्ट आ सकती है।

हिमाचल अभी अभी के साथ करें HP बोर्ड क्लासेज परीक्षा की तैयारी करने के लिए like करे Board Classes facebook page…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है