Covid-19 Update

2,16,639
मामले (हिमाचल)
2,11,412
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,392,486
मामले (भारत)
228,078,110
मामले (दुनिया)

अमानवीयता: बंदर को फांसी देने का Video हुआ वायरल; निजी मुचलके पर आरोपी रिहा

अमानवीयता: बंदर को फांसी देने का Video हुआ वायरल; निजी मुचलके पर आरोपी रिहा

- Advertisement -

नई दिल्ली। केरल में हथिनी की मौत का मामला सामने आने के बाद से देश भर में बेजुबान जानवरों के खिलाफ किए जाने वाले अत्याचारों का विरोध करने के लिए कई लोग सामने आए, तमाम तरह की बातें हुईं, चर्चा हुई। लेकिन इतना सब करने बावजूद देश में जानवारों के साथ की जाने वाली मानवीय क्रूरता की घटनाएं कम नहीं हुईं। इसी तरह की अमानवीयता का ताजा मामला तेलंगाना (Telangana) के खम्मम जिले से सामने आया है। जहां का एक वीडियो वायरल (Video Viral) हुआ है जिसमें कुछ लोग एक बंदर (Monkey) को पेड़ से टांगकर फांसी देते नज़र आए हैं।

यह भी पढ़ें: 42.50 किलो Charas मामले में हरियाणा से दबोचा मुख्य खरीददार, Sundernagar में लेनी थी Delivery

खुद को बचाने की कोशिश में छटपटाता रहा बंदर

वन अधिकारियों ने मामले में 3 लोगों से पूछताछ की और गुनाह कुबूल करने पर आरोपी को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। बतौर वनाधिकारी, आरोपी एक बंदर को फांसी देकर बाकी बंदरों को डराना चाहते थे। अब इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर धड़ल्ले से शेयर किया जा रहा है। वायरल वीडियो में बंदर एक पेड़ से रस्सी के सहारे लटका हुआ दिखाई दे रहा है। बंदर खुद को बचाने की कोशिश में छटपटाता है। इस दौरान कुछ कुत्ते हमला कर देते हैं। वायरल वीडियो में कुछ युवक डंडे के साथ भी दिखाई दे रहे हैं। वहीं वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें: आकाशीय बिजली से झुलसे तीन लोगों को इलाज के लिए गाय के गोबर में दबाया, दो की गई जान

ग्रामीणों ने भी नहीं जाताई इस क्रूरता पर आपत्ति

वन अधिकारियों ने एक ग्रामीण वेंकटेश्वर राव पर वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर अन्य आरोपियों के साथ गिरफ्तार कर लिया। उन्हें शनिवार को जमानत पर रिहा कर दिया गया। बतौर रिपोर्ट्स घटना के दिन, बंदरों की एक टुकड़ी इलाके में घुस गई। स्थानीय लोगों उनकी उपस्थिति में परेशान हो गए और उन्हें सबक सिखाने का फैसला किया। एक व्यक्ति ने एक बंदर को पकड़ लिया जो पानी के ट्यूबवेल में गिर गया था और उसे फांसी पर लटका दिया था। बाकी ग्रामीणों ने बंदर के साथ हो रही क्रूरता पर आपत्ति नहीं जताई और इसके बजाय वे उल्टा खुश हो रहे थे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है