Covid-19 Update

2,18,523
मामले (हिमाचल)
2,13,124
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,697,581
मामले (भारत)
233,205,019
मामले (दुनिया)

विक्रमादित्य बोले- पिता के निधन पर सीएम जयराम ने जो सहयोग दिया उसके सदा ऋणी रहेंगे

दलगत राजनीति और क्षेत्रवाद से ऊपर उठकर प्रदेश के हर क्षेत्र में विकास कार्य किए

विक्रमादित्य बोले- पिता के निधन पर सीएम जयराम ने जो सहयोग दिया उसके सदा ऋणी रहेंगे

- Advertisement -

शिमला। स्वर्गीय वीरभद्र सिंह ( Late Virbhadra Singh) के निधन पर सीएम जय राम ठाकुर ( CM Jai Ram Thakur) द्वारा दिए गए सहयोग के लिए लिए उनके पुत्र व विधायक विक्रमादित्य सिंह ने धन्यवाद दिया। सीएम जयराम ठाकुर का आभार व्यक्त करते हुए विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh) ने कहा कि सीएम ने दुःख की घड़ी में जो सहयोग दिया वे उसके ऋणी रहेंगे। आज विधानसभा में स्व. वीरभद्र सिंह सहित चार अन्य विधायकों के निधन पर लाए गए शोकोद‌्गार में हिस्सा लेते हुए विक्रमादित्य ने कहा कि उनके पिता एक्सीडेंटल राजनीतिज्ञ( Accidental Politician) थे। इस बात का जिक्र वीरभद्र सिंह अनेक बार स्वयं करते थे।

यह भी पढ़ें: live: मानसून सत्र: जयराम बोले- वीरभद्र सिंह के योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता

 

उन्होंने अपने जन्म से ही वीरभद्र सिंह को राजनेता और जननेता के रूप में देखा। वीरभद्र सिंह ने दलगत राजनीति और क्षेत्रवाद से ऊपर उठकर प्रदेश के हर क्षेत्र में विकास कार्य किए। विक्रमादित्य सिंह ने वीरभद्र सिंह के दिल्ली में सेंट स्टीफन कालेज में बिताए दिनों और इस दौरान स्व. इंदिरा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री के सानिध्य में देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू से मुलाकात का भी जिक्र किया और पहली बार लोकसभा टिकट मिलने की रोचक घटना भी सुनाई। उन्होंने वीरभद्र सिंह के भीतर की सादगी और नेहरू परिवार के साथ उनकी नजदीकियों को भी याद किया।

 

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि वीरभद्र सिंह जानते थे कि अफसरशाही से कैसे काम लेना है। उन्होंने कहा कि इस बारे में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर वीरभद्र सिंह के व्यक्तित्व से बहुत कुछ सीखने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह जिस स्तर के व्यक्तित्व के साथ बात करते थे, उन्हीं में ढल जाया करते थे। विक्रमादित्य सिंह ने देव समाज के कल्याण के लिए वीरभद्र सिंह के योगदान को भी याद किया। उन्होंने स्व. नरेंद्र बरागटा को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि बरागटा का निधन शिमला जिला, खासकर बागवानी के लिए बहुत बड़ा आघात है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है