Covid-19 Update

2,18,314
मामले (हिमाचल)
2,12,899
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,678,119
मामले (भारत)
232,488,605
मामले (दुनिया)

कमाल का Test, लक्षण दिखने से पहले ही चल जाएगा Cancer का पता

कमाल का Test, लक्षण दिखने से पहले ही चल जाएगा Cancer का पता

- Advertisement -

दुनियाभर में हर साल कैंसर से कितने लोगों की जान चली जाती है। डॉक्टर्स की लाख कोशिशों की बावजूद कैंसर पेशेंट (Cancer patient) को बचाना मुश्किल हो जाता है। लेकिन अब इस बीमारी से निपटने के लिए डॉक्टर्स को अब एक नई उम्मीद दिखी है। चीन के शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि कैंसर के लक्षण दिखने के कई साल पहले ही एक ब्लड टेस्ट के जरिए इसे डिटेक्ट किया जा सकता है। अगर ऐसा संभव हुआ तो इस भयंकर बीमारी से इंसान की जान बचाना चिकित्सकों (Physicians) के लिए काफी आसान हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: Coronavirus से फेफड़ों का हो जाता है ऐसा हाल, डॉक्टर्स ने शेयर की फोटो

शोधकर्ताओं का कहना है कि PanSeer नाम का यह ब्लड टेस्ट 95 प्रतिशत लोगों में कैंसर का पता लगा सकता है, जिनमें पहले कभी इसके लक्षण नहीं दिखाई दिए हैं। शोधकर्ता कहते हैं, ‘हम ये साबित कर चुके हैं कि ब्लड टेस्ट पर आधारित डीएनएन मिथाइलेशन के जरिए पारंपरिक निदान के चार साल पहले ही पांच प्रकार के कैंसर को डिटेक्ट किया जा सकता है।’ चीनी शोधकर्ताओं का यह अध्ययन ‘नेचुरल कम्युनिकेशन’ जर्नल में प्रकाशित हुआ है। ब्लड टेस्ट के जरिए कैंसर का जल्द पता लगाने वाली ऐसी रिपोर्ट पहली बार सामने नहीं आई है। टीम ने कहा कि यह रिसर्च काफी दिलचस्प था, क्योंकि इसमें हमने पाया कि रोगियों में लक्षण दिखने से पहले ही कैंसर का पता लगाया जा सकता है। कुछ स्टडीज में पहले भी ऐसे दावे किए जा चुके हैं।

 

मशीन लर्निंग एल्गोरिदम का किया उपयोग

शोधकर्ताओं ने बताया कि कैसे यह टेस्ट मिथाइल ग्रुप के लिए ब्लड प्लाज्मा (Blood plasma) में पाए जाने वाले डीएनए की स्क्रीनिंग कर कैंसर का पता लगा सकता है। टीम ने कहा कि इस तकनीक का इस्तेमाल कर उन्हें डीएनए के बहुत छोटे स्तर तक पहुंचने में मदद मिली है। इसके बाद इसकी जड़ तक पहुंचने के लिए उन्होंने मशीन लर्निंग एल्गोरिदम का उपयोग किया, यानी एक प्रकार की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक। इस टेस्ट को विकसित करने के लिए चीनी शोधकर्तओं ने 2007 से लेकर 2014 के बीच ब्लड प्लाज्मा सैंपल एकत्रित किए थे। टेस्ट में जिन लोगों का ब्लड प्लाज्मा सैंपल लिया गया था, उनमें से 414 लोग तकरीबन पांच साल तक कैंसर मुक्त रहे, जबकि 191 लोग चार साल के भीतर पेट, कोलेक्ट्रोल, लिवर, फेफड़े और ग्रासनली के कैंसर से पीड़ित पाए गए।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है