Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

अव्यवस्था: Ambulance के अभाव में महिला ने पिकअप में जना बच्चा; प्रसव करवाने से पीछे हटे डॉक्टर

अव्यवस्था: Ambulance के अभाव में महिला ने पिकअप में जना बच्चा; प्रसव करवाने से पीछे हटे डॉक्टर

- Advertisement -

ठियोग। प्रदेश की राजधानी शिमला में स्थित ठियोग अस्पताल (Thiyog Hospital) में अव्यवस्था की एक बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां पर प्रसव सुविधा ना मिलने और 108 एंबुलेंस (Ambulance) के अभाव में एक गर्भवती महिला (Pregnant woman) को मजबूरन छराबड़ा के पास पिकअप (pick up) में ही अपने बच्चे को जन्म देने के लिए मजबूर होना पड़ा। जिसके बाद स्थानीय लोगों ने स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ इस पूरे मामले के लिए अस्पताल प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते हुए सरकार से इस मामले की जांच कराने की मांग उठाई है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल के बेरोजगारों को मिलेगा Online प्रशिक्षण, कौशल विकास निगम कर रहा तैयारी

महिला डॉक्टर प्रसव करवाने में असहमति जताते हुए शिमला भेजा

बतौर रिपोर्ट्स ठियोग की संधू पंचायत के डकाना गांव निवासी महिला को गुरुवार सुबह प्रसव पीड़ा शुरू हुई, जिसके बाद उसे ठियोग स्थित सिविल अस्पताल (Civil Hospital) लाया गया। जहां ड्यूटी पर तैनात डाक्टर ने महिला के प्रसव करवाने में असहमति जताते हुए गर्भवती महिला को शिमला (Shimla) ले जाने को कहा। इस बीच महिला का दर्द काफी अधिक बढ़ गया और महिला ने बीच रास्ते में छराबडा के जंगल में पिकअप के पिछले हिस्से में एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दे दिया। इसके बाद महिला को नाजुक हालत में राजधानी शिमला स्थित केएनएच अस्पताल पहुंचाया गया। अब अस्पताल में जच्‍चा-बच्‍चा को चिकित्‍सकों की निगरानी में रखा गया है। वहीं लोगों द्वारा ठियोग सिविल अस्पताल में प्रसव ना करवाने की शिकायत एसडीएम केके शर्मा से की है।


यह भी पढ़ें: सेब सीजन से पहले Himachal आने के लिए जारी हुए बड़े आदेश, पढ़कर ही आना

यहां जानें पूरे मामले पर अस्पताल प्रशासन ने क्या कहा

बताया गया कि अस्पताल में मौजूद महिला डाक्टर ने स्टाफ ना होने की बात कहते हुए उसे शिमला भेज दिया था। वहीं शिमला जाने के लिए दंपती को अस्पताल से एंबुलेंस तक नहीं मुहैया कराई गई। महिला के परिवार ने मदद की गुहार लगाने के लिए विधायक को भी किया, लेकिन उन्हें कोई मदद नहीं मिली। इसके बाद मजबूरन महिला को पिकअप में बैठाकर शिमला ले जाना पड़ा। इस दौरान बीच रास्ते में महिला ने नवजात को जन्म दे दिया। वहीं इस पूरे मामले पर सिविल अस्पताल ठियोग के प्रभारी डॉ दिलीप टेक्टा ने कहा है कि महिला का सात माह का प्रसव था। इसमें जान का जोखिम हो सकता था। जिसमें कठिनाई आ सकती थी, इसलिए उसे शिमला रेफर किया गया था। दूसरे अस्पताल में एक ही एंबुलेंस है, जिसे कोविड 19 के लिए प्रशासन ने रिजर्व कर रखा है। अस्पताल के लिए एक और एंबुलेंस की मांग की है। शीघ्र ही मिलने की उम्मीद है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है