Covid-19 Update

2,05,061
मामले (हिमाचल)
2,00,704
मरीज ठीक हुए
3,498
मौत
31,440,951
मामले (भारत)
195,407,759
मामले (दुनिया)
×

#Tandav : सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ऐसी एक्टिंग और स्क्रिप्ट नहीं करनी चाहिए जिससे भावनाएं आहत हों

#Tandav : सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ऐसी एक्टिंग और स्क्रिप्ट नहीं करनी चाहिए जिससे भावनाएं आहत हों

- Advertisement -

नई दिल्ली। अमेजन प्राइम (Amazon Prime) पर रिलीज हुई वेब सीरीज तांडव (Tandav) के मेकर्स और अमेजन प्राइम की ओर से दायर याचिकाओं (Petitions) पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। दरअसल तांडव के मेकर्स (Tandav Makers) के खिलाफ देश के विभिन्न राज्यों में मामले दर्ज हुए हैं। इन एफआईआर (FIR) को रद्द करने की मांग से जुड़ी हुई याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में दायर की गई थीं। आज इन्हीं याचिकाओं पर न्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति आर सुभाष रेड्डी और न्यायमूर्ति एम आर शाह की पीठ ने सुनवाई की।

यह भी पढ़ें: #Tandav के मेकर्स से पूछताछ करने के लिए मुंबई पहुंची UP Police

 


इस दौरान पीठ ने टिप्पणी करते हुए कहा कि आपको ऐसी एक्टिंग और स्क्रिप्ट नहीं करना चाहिए जिससे लोगों की भावनाएं आहत हों। उधर, सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने मेकर्स को अंतरिम प्रोटेक्शन देने से इनकार कर दिया। इसके अलावा सर्वोच्च न्यायालय ने गिरफ्तारी पर रोक लगाने के आदेश देने से भी मना कर दिया। मामले में अगली सुनवाई चार सप्ताह बाद होगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आपको यदि राहत चाहिए तो आप हाईकोर्ट जाएं। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अलग-अलग राज्यों में दर्ज एफआईआर को क्लब करने की मांग पर विचार किया जाएगा।

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि जिन भी राज्यों में एफआईआर दर्ज हुई है वहां जांच होने दीजिए। इसमें परेशानी क्या है। इस पर वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि याचिकाकर्ता मुंबई का रहने वाला है। वो छह अलग-अलग राज्यों में मुकदमा कैसे लड़ेगा। इसलिए अदालत अलग-अलग राज्यों में दर्ज एफआईआर को क्लब कर मुंबई ट्रांसफर कर दे। आपको बता दें कि तांडव वेब सीरीज को लेकर काफी विवाद हुआ था। मेकर्स पर हिंदुओं की धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप लगे। इसके बाद शो के डायरेक्टर अली अब्बास जफर, अमेजन प्राइम इंडिया प्रमुख अपर्णा पुरोहित, निर्माता हिमांशु मेहरा, कहानी के लेखक गौरव सोलंकी और अभिनेता मोहम्मद जीशान अयूब पर कई राज्यों एफआईआर दर्ज हुई है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है