हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2017

BJP

44

INC

21

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

हिमाचल में यहां लगाए स्वचालित मौसम प्रणाली उपकरण, जाने आपकों क्या होगा फायदा

चंबा में प्रज्ञा संस्था ने स्थापित किए सात स्वचालित मौसम प्रणाली उपकरणए डीसी ने किया शुभारंभ

हिमाचल में यहां लगाए स्वचालित मौसम प्रणाली उपकरण, जाने आपकों क्या होगा फायदा

- Advertisement -

चंबा। हिमाचल के चंबा (Chamba) जिला में प्राकृतिक आपदाओं (Natural Disasters) के प्रभावी प्रबंधन के लिए स्वचालित मौसम प्रणाली उपकरण (Automatic weather system equipment) लगाए गए हैं। प्रज्ञा संस्था के सहयोग से कुंडी, कुरांह, बाट, गुलेरा कियाणी, चंडी और कल्हेल में यह सात स्वचालित मौसम निगरानी प्रणाली उपकरण स्थापित किए गए हैं। डीसी चंबा ने कॉन्फ्रेंस हॉल में आयोजित कार्यक्रम में स्वचालित मौसम प्रणाली उपकरणों का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि यह स्वचालित मौसम प्रणाली केंद्र जिला में मौसम से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियों को समय पर उपलब्ध करवाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि इन उपकरणों से ना केवल आपदा पूर्व मौसम से संबंधित जानकारी उपलब्ध होगी, अपितु यह बारिश के पूर्वानुमान में किसानों और बागवानों के लिए भी महत्वपूर्ण होंगे।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: प्रदेश में पांच दिन तक साफ रहेगा मौसम, 10 नवंबर को बदल सकता है करवट

 

 

जोत पर डॉप्लर रडार भी किया जा रहा स्थापित

डीसी राणा ने बताया कि जिला में भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (Indian Meteorological Department) द्वारा भी 120 वर्ग किलोमीटर की क्षमता वाला डॉप्लर रडार (Doppler Radar) जोत नामक स्थान पर स्थापित किया जा रहा है। इसके कार्यशील होने से मौसम की पूर्ण प्रभावी जानकारी उपलब्ध होगी। डीसी चंबा ने आपदा पूर्व चेतावनी के लिए स्वचालित मौसम प्रणाली केंद्रों में स्थापित किए गए इन उपकरणों की पूर्ण उपयोगिता सुनिश्चित बनाने के लिए भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के साथ जोड़ने को कहा।

 

बिना किसी मानवीय हस्तक्षेप के करेंगे कार्य

उन्होंने टीम प्रज्ञा के प्रयासों की सराहना करते हुए जिला के अन्य स्थानों में भी इस तरह के उपकरण स्थापित करने की आवश्यकता पर जोर दिया।इस दौरान प्रज्ञा प्रबंधन ने स्वचालित मौसम प्रणाली के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि यह उपकरण भारतीय मौसम विज्ञान विभाग द्वारा प्रमाणित किए गए हैं। इनकी कार्यक्षमता लगभग 7 से 8 वर्ग किलोमीटर है। साथ ही यह उपकरण परिष्कृत और कम लागतए प्रभावी माप/ रिकॉर्डिंग/ संचारण और निगरानी के लिए पूर्ण रूप से उपयुक्त हैं। उन्होंने यह भी बताया कि कम बिजली की खपत के साथ यह स्वचालित मौसम प्रणाली बिना किसी मानवीय हस्तक्षेप के बिना कार्य करने में पूर्ण रूप से सक्षम है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है