Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल में बनेगा पहला हाईटेक डेयरी फार्म, दूध निकालने से लेकर सभी कार्य करेंगे रोबोट्स

ऊना के बसाल में 44 करोड़ से खुलेगा हाईटेक डेयरी फार्म

हिमाचल में बनेगा पहला हाईटेक डेयरी फार्म, दूध निकालने से लेकर सभी कार्य करेंगे रोबोट्स

- Advertisement -

ऊना। आधुनिक समय में जहां हर चीज हाईटेक (Hi-Tech) हो रही है वहीं अब पशुओं के डेयरी फार्म भी हाईटेक तकनीक से लैस होने वाले हैं। हिमाचल प्रदेश में पहली बार ऐसा होने जा रहा है। प्रदेश के ऊना जिले की ग्राम पंचायत बसाल में ऐसा डेयरी फार्म खुलने जा रहा हैए जहां पर दुधारू पशुओं का दूध इंसान नहीं,बल्कि रोबोट निकालेंगे। रोबोट्स के सहारे ही पूरे डेयरी फार्म (Dairy Farm) को चलाया जाएगा। इतना ही नहीं गायों (Cow) को घास डालने से लेकर उनका गोबर हटाने समेत अन्य तमाम कार्यों को मशीनरी द्वारा ही किया जाएगा। इसके लिए केंद्रीय पशुपालन मंत्रालय (Union Ministry of Animal Husbandry) सेंटर ऑफ एक्सीलेंस डेयरी फार्म कम ट्रेनिंग सेंटर बसाल (Training Center Basal) में स्थापित करने जा रहा है। यह प्रोजेक्ट 44 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया जाएगा। जिसमें केंद्रीय पशुपालन मंत्रालय द्वारा हिमाचल प्रदेश को 38 करोड़ रुपए जारी कर दी गई हैं, जबकि शेष राशि हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा जारी की जाएगी।

यह भी पढ़ें: बैंबू मैन ऑफ इंडिया बोले- ऊना का बांस दे सकता है कई लोगों को रोजगार

इसी बजट में डेयरी फार्म का स्ट्रक्चर बनाने के साथ-साथ रोबोट (Robots) की खरीदी की जाएगी। करीब 10 हेक्टेयर भूमि में बनने वाले इस डेयरी फार्म के लिए भूमि का चयन कर लिया गया है और भूमि स्थानांतरण की प्रक्रिया चल रही है। यह डेयरी फार्म प्रदेश में अपनी तरह का पहला हाईटेक फार्म होगा। इसके साथ जहां पर पशुपालकों, विशेषज्ञों और चिकित्सकों को ट्रेनिंग देने के लिए भी विशेष प्रशिक्षण संस्थान (specialized training institute) बनाया जाएगा। इस फार्म में करीब 300 देसी हाई ब्रीड गायों को रखा जाएगा। इनमें रेड सिंधि, थारपार्कर, साहिवाल, गिर और कोकरेंज गाय शामिल होंगी। हाईटेक तकनीक से लैस इस डेयरी फार्म और ट्रेनिंग सेंटर का काम होने की संभावना है। पशुपालन विभाग (Animal Husbandry Department) के अधिकारी वर्तमान में भूमि हस्तांतरण के काम को प्राथमिकता के आधार पर निपटाने में लगे हैं। पशुपालन विभाग के उपनिदेशक डॉण् जेएस सेन का कहना है कि जमीन पशुपालन विभाग के नाम होते ही विभाग द्वारा डेयरी फार्म और ट्रेनिंग सेंटर का कार्य पूरा किया जाएगा। उसके साथ अन्य कार्य को अमलीजामा पहनाया जाएगा।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है