Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

पर्यटक कर पाएंगे कालका-शिमला रेलवे ट्रैक का सफर आज से दौड़ीं 4 ट्रेनें

आज पहले दिन 250 लोगों ने किया सफर, टॉय ट्रेन है पर्यटकों की पहली पसंद

पर्यटक कर पाएंगे कालका-शिमला रेलवे ट्रैक का सफर आज से दौड़ीं 4 ट्रेनें

- Advertisement -

शिमला। कालका-शिमला रेलवे हेरिटेज ट्रैक (Kalka-Shimla railway heritage track) पर करीब डेढ़ माह से भी लंबे अंतराल के बाद आज से चार ट्रेनों का संचालन शुरू हो गया है। शिमला में सैलानियों की आवक बढ़ने के बाद रेलवे ने इन ट्रेनों को चलाने का फैसला लिया था। सोमवार को पहले दिन इन ट्रेनों में करीब 250 लोगों ने सफर किया। इसकी घोषणा खुद रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने की है। इन ट्रेनों की शुरुआत से इलाके में पर्यटन के विकास को चार.चांद लगने की उम्मीद है तो स्थानीय लोगों के लिए भी इसे काफी फायदेमंद बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: कोई भी परिस्थिति हो, हर एक के लिए योग के पास कोई ना कोई समाधान की पुड़िया

हिमाचल में आने वाले पर्यटक टॉय ट्रेन (Toy Train) के सफर को काफी पसंद करते हैं। ऐसे में जब हिमाचल में पर्यटकों (Tourist) की आमद बढ़ने लगी है ऐसे में यह ट्रेन का सफल उन्हें अपनी ओर खींचेगा। शिमला आने वाले पर्यटक अकसर रेलगाड़ी में सफर करना सही समझते हैं। हालांकि यह सुहाना सफर सड़क मार्ग की तुलना में लंबा है, लेकिन हेरिटेज ट्रैक की खूबसूरती निहारने की लालसा में पर्यटक रेलगाड़ी में सफर करते हैं। यह सफर 103 सुरंगों (Tunnels) के साथ यादगार एहसास दिलाता है। देवदार के विशालकाय पेड़ों में से पहाड़ों के बीचों बीच बने ट्रैक पर सफर का अपना ही आनंद है। 124 साल पुरानी कालका-शिमला टॉय ट्रेन का इतिहास बहुत ही रोमांचक है और यह रेलवे इंजीनियरिंग की उतनी ही अद्भुत मिसाल पेश करता है। रेलवे के इस सेक्शन से आधुनिक भारत के इतिहास के कई अहम पड़ाव भी जुड़े हुए हैं।

बता दें कि कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) लगने के बाद शिमला-कालका ट्रैक पर चलने वाली पांच रेलगाडिय़ां रद कर दी गई थीं। मौजूदा समय में केवल एक यात्री ट्रेन की आवाजाही हो रही थी। कोरोना संक्रमण के मामले कम होने व अनलाक की प्रक्रिया शुरू होने के बाद रेलगाडिय़ों का संचालन बढ़ाया जा रहा है। रेलवे स्टेशन शिमला (Shimla) के अधीक्षक जोगिंद्र सिंह ने बताया कि कोरोना कर्फ्यू के बीच आक्युपेंसी पांच से सात फीसद रह गई थी, जोकि अब बढ़ कर 70 से 80 फीसद पहुंच गई है। वहीं, होटलों में भी आक्युपेंसी बढ़ रही है। मैदानी इलाकों में पड़ रही भीषण गर्मी से राहत पाने के लिए भारी तादाद में पर्यटक शिमला का रुख कर रहे हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है