Covid-19 Update

2,63,914
मामले (हिमाचल)
2, 48, 802
मरीज ठीक हुए
3944*
मौत
40,371,500
मामले (भारत)
363,221,567
मामले (दुनिया)

इस बिजनेस में सरकार देगी 85% सब्सिडी, 5 लाख तक की होगी कमाई

महिलाओं के रोजगार के लिए भी सरकार है तत्पर

इस बिजनेस में सरकार देगी 85% सब्सिडी, 5 लाख तक की होगी कमाई

- Advertisement -

दुनिया में आजकल कोई भी व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति के आगे काम करना पसंद नहीं करता है। ज्यादातर लोग अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही बिजनेस के बारे में बताएंगे, जिसे आप आसानी से शुरू कर सकते हैं और लाखों की कमाई भी कर सकते हैं। जिस बिजनेस के बारे में हम बात कर रहे हैं वे है मधुमक्खी पालन (Bee Keeping) का बिजनेस।

बता दें कि मधुमक्खी पालन के बिजनेस को शुरू करने के लिए सरकार द्वारा सब्सिडी भी दी जाती है। सरकार द्वारा मधुमक्खी पालन पर 80-85 फीसदी तक सब्सिडी दी जाती है। राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड ने राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) (National Bank for Agriculture and Rural Development) (NABARD) के साथ मिलकर भारत में मधुमक्खी पालक व्यवसाय से मुनाफे की कई योजनाएं बनाई हैं। वहीं, इस क्षेत्र में महिलाओं के रोजगार के लिए भी सरकार तत्पर है। सरकार से सब्सिडी पाने के लिए कोई भी व्यक्ति राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड से संपर्क कर सकता है।

यह भी पढ़ें-पिज्जा होता है गोल और डिब्बा चौकोर, आप भी समझे इसके पीछे का फंडा


मधुमक्खी पालन पर सरकार दे रही जोर

कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय ने फसल उत्पादकता में सुधार के लिए मधुमक्खी पालन का विकास नाम से केंद्रीय योजना की शुरुआत की थी, जिसके तहत लोगों के बीच सेक्टर को विकसित करना, प्रशिक्षण करना, प्रोडक्टिविटी बढ़ाना और जागरूकता फैलाना शामिल है।


जबरदस्त है मधुमक्खी पालन का बाजार

मधुमक्खी पालन के बिजनेस के तहत कोई भी व्यक्ति मधुमक्खी से शहद के अलावा कई दूसरे उत्पादों का भी प्रोडक्शन कर सकता है, बीजवैक्स, प्रोपोलिस, रॉयल जेली, मधुमक्खी गोंद और मधुमक्खी पराग शामिल हैं। गौरतलब है कि ये सारे प्रोडक्ट्स इंसानों के लिए काफी फायदेमंद हैं और बाजार में इनकी कीमत भी बहुत ज्यादा है। यानी ऐसे उत्पादों का प्रोडक्शन कर आप इसमें कई तरह से पैसे कमा सकते हैं।


मधुमक्खी पालन का बिजनेस ऐसे करें शुरू

मधुमक्खी पालन का बिजनेस शुरू करने के लिए सबसे पहले व्यक्ति को पेशेवर संघों से मधुमक्खियों के स्थान और इलाके में उत्पादित शहद के प्रकारों की जानकारी लेनी चाहिए। फिर पहली फसल के बाद मधुमक्खी पालन कार्य का मूल्यांकन करें और अपनी मधुमक्खियों और पत्तियों के स्वास्थ्य की जांच भी करते रहें। इसके बाद अपने मधुमक्खी से संबंधित उत्पादों की बिक्री के लिए राज्य के राजस्व विभाग से संपर्क करें, जिससे कि आपको अच्छा पैसा मिल सकता है।

ऐसा है मधुमक्खी पालन का कारोबार

मधुमक्खी पालन कृषि व बागवानी उत्पादन बढ़ाने की क्षमता भी रखता है और यही कारण है कि सरकार इस बिजनेस के लिए मदद कर रही है। मधुमक्खी पालन से व्यक्ति लाखों में कमाई कर सकता है। मधुमक्खी का संग्रह कर उनसे बने शहद और मोम को बेचकर अच्छा मुनाफा हो सकता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है