Covid-19 Update

2,85,705
मामले (हिमाचल)
2,81,272
मरीज ठीक हुए
4122
मौत
43,381,064
मामले (भारत)
548,242,587
मामले (दुनिया)

यहां सुनाते हैं बच्चों को डरावनी कहानियां, रोचक है वजह

बिजली चमकने या तेज हवाओं से डरते हैं बच्चे

यहां सुनाते हैं बच्चों को डरावनी कहानियां, रोचक है वजह

- Advertisement -

दुनियाभर में बच्चों को कहानियां सुनाने के पीछे अलग-अलग कारण होता है। हमारे देश में बच्चों को सुलाने के लिए कहानियां सुनाई जाती हैं। जबकि, दुनिया में एक देश ऐसा भी है जहां बच्चों को डरावनी कहानियां (Horror Stories) सुनाई जाती है। ऐसा करने से ये लोग बच्चों से कुछ भी मनवा लेते हैं।

यह भी पढ़ें:झारखंड का ये गांव कहलाता है शिव की नगरी, यहां खेत-खलिहानों में भी मिलते हैं शिवलिंग

बता दें कि जापान (Japan) में बच्चों को पेट छिपाकर रखने के लिए कहानियां सुनाई जाती हैं। दरअसल, यहां छोटे बच्चे संक्रमण या बीमारी की चपेट में जल्दी आते हैं, इसलिए जापान में मां या दादी को कामीनारा-सामा के बारे में बताती हैं। इसके अलावा बिजली चमकने या तेज हवाएं चलने पर भी यहां के बच्चे अपना पेट छिपाने लगते हैं।

जानकारी के अनुसार, इन कहानियों में मां या दादी बच्चों से कहती हैं कि अगर बच्चे अपना पेट नहीं छिपाएंगे तो राइजिन जिसे बिजली और तूफान का भगवान कहा जाता है उनका पेट खा जाएगा। इस बात से बच्चे डरते हैं और उनकी बात मान लेते हैं। बच्चे कपड़े पहनते हैं और अपना ध्यान रखते हैं। जापानी लोग अपने बच्चों को हारामकी पहनाकर रखते हैं।

जापानी लोगों का कहना है कि बच्चे अपना ध्यान रख सकें, इसलिए उन्हें ऐसी कहानियां सुनाई जाती हैं। इतना ही नहीं, जापान के स्कूलों में शिक्षक भी बच्चों को कुछ इस तरह की कहानियां सुनाते हैं ताकि वे अपने मां-बाप से दूर भी सुरक्षित और स्वस्थ रह सकें।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है