Covid-19 Update

2,60,321
मामले (हिमाचल)
2,39. 550
मरीज ठीक हुए
3916*
मौत
38,903,731
मामले (भारत)
347,844,974
मामले (दुनिया)

पीसमील वर्करों की मांगों पर होगा फैसला, सरकार ने बुलाई बीओडी की बैठक; जाने कब होगी

सरकार ने 18 दिसंबर को बुलाई है बैठक, हड़ताल से 200 रूट हो रहे प्रभावित

पीसमील वर्करों की मांगों पर होगा फैसला, सरकार ने बुलाई बीओडी की बैठक; जाने कब होगी

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में 17 दिन से टूल डाउन हड़ताल पर चल रहे पीसमील वर्करों (Piecemeal Workers) की मांगों पर 18 दिसंबर को फैसला हो सकता है। प्रदेश सरकार ने 18 दिसंबर को हिमाचल पथ परिवहन निगम (HRTC) के निदेशक मंडल (BOD) की बैठक बुलाई है। इसमें पीसमील वर्करों की मांग पर चर्चा होगी और उस पर फैसला लिया जाएगा। बता दें कि ये वर्कर 17 दिनों से टूल डाउन हड़ताल पर हैं। अब वर्कशॉप में तैनात तकनीकी कर्मचारी भी उनके साथ हड़ताल पर चले गए हैं। ऐसे में एक हजार से ज्यादा बसें रिपेयर के लिए वर्कशॉप में खड़ी हैं। इससे करीब 200 रूट प्रभावित हो गए हैं। हालांकि, एचआरटीसी प्रबंधन (HRTC Management) ने पीस मील वर्करों और तकनीकी कर्मचारियों को हड़ताल खत्म कर काम पर लौटने के लिए पत्र लिखा है।

यह भी पढ़ें: बुरी खबर! 10 साल पुराने डीजल वाहनों का रजिस्ट्रेशन होगा रद्द देखें नया आदेश

वहीं तकनीकी कर्मियों और पीस मील वर्करों का कहना है कि जब तक सरकार वर्करों को अनुबंध पर लाने से संबंधित पत्र जारी नहीं करती, तब तक वे हड़ताल जारी रखेंगे। तकनीकी कर्मचारी महासंघ के प्रदेश महासचिव पूर्ण चंद ने बताया कि तकनीकी कर्मचारी हर दिन 2 से 4 बजे तक हड़ताल पर हैं। उन्होंने कहा कि सरकार हर बार कर्मचारियों को आश्वासन देती रही है। बीओडी में अगर पीसमील वर्करों की मांग पर फैसला होता है तो ठीक हैए ऐसा नहीं हुआ तो हड़ताल जारी रहेगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है