Covid-19 Update

2,67,577
मामले (हिमाचल)
2, 53, 840
मरीज ठीक हुए
3961*
मौत
40,858,241
मामले (भारत)
370,456,718
मामले (दुनिया)

हिमाचलः अनुबंध के लिए एचआरटीसी पीस मील वर्कर्स बैठे हड़ताल पर, काम भी रोका

हिमाचलः अनुबंध के लिए एचआरटीसी पीस मील वर्कर्स बैठे हड़ताल पर, काम भी रोका

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश में आज से करीब एक हजार एचआरटीसी पीस मील वर्कर्स हड़ताल पर हैं। अपनी मांग के समर्थन में पीस मील वर्कर्स ने सभी जिला मुख्यालयों पर हड़ताल कर रखी है। । पीस मील वर्कर्स को उम्मीद थी कि जेसीसी की बैठक में उनकी मांगों का हल होगा, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। वर्कर्स की मांग है कि जब तक उनको अनुबंध पर नहीं किया जाता तब तक उनकी हड़ताल जारी रहेगी। अगस्त में भी कर्मचारियों को अनुबंध पर करने की मांग को लेकर टूल डाउन हड़ताल की थी। 17 अगस्त से 24 अगस्त तक चली हड़ताल को परिवहन मंत्री और निगम प्रबंधन के आश्वासन के बाद वापस लिया गया था,। लेकिन मंत्री और प्रबंधन का आश्वासन झूठा निकला है। ऐसे में पीस मील वर्कर खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं।

ये भी पढ़ेः हिमाचलः 40 हजार रिश्वत लेते पकड़े गए पूर्व जज गौरव शर्मा बर्खास्त, पढ़े पूरा मामला

पीस मील कर्मचारियों को कहना है कि प्रदेश सरकार के साथ ही पहले की बातचीत के दौरान आश्वासन दिया गया था कि उन्हें अनुबंध पर लाने के लिए नीति बनाई जाएगी। इसके लिए 25 नवंबर तक का समय भी दिया गया था, लेकिन 25 नवंबर तक नीति न बनने के बाद अब पीस मील वर्करों ने आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया है। कर्मचारियो का आरोप है कि प्रदेश सरकार उनके साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। आप को बता दें, सरकार और हिमाचल पथ परिवहन निगम से नाराज चले करीब एक हजार पीस मील कर्मचारी ने आज से अपना काम बंद कर दिया है जिसके तहत कर्मचारियो ने सुबह ड्यूटी टाइम में नारेबाजी कर विरोध जता रहे हैं।

अपनी मांग के समर्थन में आज से टूल डाउन हड़ताल कर रहे हैं। जिससे नुकसान यह होगा कि अगर कोई एचआरटीसी की बस खराब होती है तो उसकी तुरंत मरम्मत नहीं हो सकेगी। एचआरटीसी में मैकेनिकल कार्य के लिए पीस मील वर्कर्स पर निर्भरता ज्‍यादा है। परिवहन मंत्री Himachal: परिवहन मंत्री से मिले आश्वासन के बाद HRTC कर्मचारियों ने खत्म की हड़तालके नियमित कर्मचारी बहुत कम हैं। पीस मील कर्मचारी संघ की धर्मशाला इकाई के नेता सुनील कुमार ने बताया कि पांच व छह सालों के बाद भी उन्‍हें अनुबंध में नहीं लाया जा सका है। पीस मील वर्कर्स को अनुबंध में लाने की उम्मीद जेसीसी की बैठक में थी, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। लंबे समय से पीस मील कर्मचारी अपनी मांगों को उठा रहे हैं। कई बार ज्ञापन दे चुके हैं, लेकिन मांग को नहीं माना गया है। एक हजार पीस मील कर्मचारी हड़ताल पर जा रहे हैं। उन्होंने सरकार से आग्रह किया है कि उनकी मांग को जल्द से जल्द पूरा किया जाए।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है