×

IIT रूड़की लगा रहा डिजिटल क्लासेज, छात्रों को इंटरनेट के लिए मिलेंगे 500 रुपए

IIT रूड़की लगा रहा डिजिटल क्लासेज, छात्रों को इंटरनेट के लिए मिलेंगे 500 रुपए

- Advertisement -

रुड़की। कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते लगाए गए लॉक डाउन (Lockdown) के बीच आईआईटी रुड़की (IIT Roorkee) ने अपने स्टूडेंट्स को ऑनलाइन क्लासेज (Online Classes) देना शुरू कर दिया है। आईआईटी रूड़की के डायरेक्टर ने एक बयान में कहा है कि जिन छात्रों को संस्थान की ओर से पूरा या आंशिक इंटरनेट खर्च मिलता है उन्हें 500 रुपए प्रति माह का रिइंबर्समेंट दिया जाएगा जिससे इंटरनेट सुविधा (Internet facility) का लाभ ले सकें। ये रिइंबर्समेंट उन्हें उस समय दिया जाएगा जब नॉर्मल क्लासेस शुरू हो जाएंगी।


यह भी पढ़ें: एक दिन में 179 बढ़े Coronavirus के मामले, 6 मौतें, मरीजों की संख्या हुई 1029

डिजिटल क्लासेज को लेकर टीचर्स का कहना है कि वे लाइव वीडियो, इंट्रेक्टिव लाइव वीडियो, पीपीटी, पीपीटी वायस के साथ, वाइस मैसेज या टेक्स मैसेज, पीडीएफ फाइल, डाकुमेंट, और जेपीजी मोड से स्टडी कंटेंट छात्रों को भेजें जिससे कि स्टडी के कार्य को अधिक से अधिक प्रभावी बनाया जा सके। आईआईटी रूड़की के डायरेक्टर अजीत चतुर्वेदी ने अपने बयान में कहा, ‘डिजिटल कंटेट शेयर करने के लिए जरूरी नहीं है कि यह लाइव ही हो या इंट्रैक्टिव वीडियो हो। कंटेंट के कई प्रकार होने से छात्रों को स्वतंत्रता होगी कि वह किस फॉर्मेट में कंटेट को यूज करना चाहते हैं। छात्रों की सुविधा के अनुसार, चैटिंग, वीडियो चैट, ईमेल आदि का इस्तेमाल कर उनकी शंकाओं का समाधान किया जा सकता है। सेमेस्टर टाइम-टेबल के अनुसार, लाइव क्लासेस का सेशन भी आयोजित किया जाना चाहिए। साथ ही लाइव के दौरान क्लासरूप में होने वाली टीचिंग से गति कुछ धीमी होनी चाहिए।’

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है