Covid-19 Update

2,27,195
मामले (हिमाचल)
2,22,513
मरीज ठीक हुए
3,831
मौत
34,596,776
मामले (भारत)
263,226,798
मामले (दुनिया)

पीएम मोदी के फैसले से दुखी कंगना को क्यों आयी इंदिरा गांधी की याद

लिखा - एकमात्र महिला पीएम ने इन को अपनी जूती के नीचे कुचल दिया था।

पीएम मोदी के फैसले से दुखी कंगना को क्यों आयी इंदिरा गांधी की याद

- Advertisement -

मुंबई। बॉलीवुड क्वीन से कंट्रोवर्सी क्वीन बनी हिमाचली गर्ल कंगना रनौत (Kangna Ranautt) इन दिनों पीएम के फैसले से बेहद दुखी है। अब उन्होंने देश की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को याद करते हुए तारीफ के कसीदे गढ़े हैं। कंगना ने कहा है कि खालिस्तानी आतंकवादी आज भले ही सरकार का हाथ मरोड़ रहे हों, लेकिन एक महिला को मत भूलना। एकमात्र महिला पीएम ने इन को अपनी जूती के नीचे कुचल दिया था।

कंगना ने इंदिरा गांधी की तस्वीर को शेयर करते हुए आगे लिखा कि खालिस्तानी आतंकवादी आज भले ही सरकार का हाथ मरोड़ रहे हों, लेकिन उस महिला को मत भूलना। एकमात्र महिला प्रधानमंत्री ने इनको अपनी जूती के नीच क्रश किया था। उसने इस देश को कितनी भी तकलीफ दी हो। उसने अपनी जान की कीमत पर उन्हें मच्छरों की तरह कुचल दिया, लेकिन देश के टुकड़े नहीं होने दिए। उनकी मृत्यु के दशक के बाद भी आज भी उसके नाम से कांपते हैं ये इनको वैसा ही गुरु चाहिए।

बता दें कि कल कृषि कानूनों की वापसी से भड़की कंगना ने कहा था, ”अगर संसद में चुनी हुई सरकार के बदले सड़कों पर लोगों ने कानून बनाना शुरू कर दिया तो यह एक जिहादी राष्ट्र है। उन सभी को बधाई जो ऐसा चाहते थे।”

यह भी पढ़ें: हिमाचल में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत का फूंका पुतला, आजादी वाले बयान पर भड़की NSUI

गौरतलब है कि गुरु नानक जयंती के मौके पर प्रदर्शनकारी किसानों के हक में पीएम नरेंद्र मोदी ने एक बड़ा फैसला लिया। जिनकी वजह से साल भर से अधिक समय से देश के कई हिस्सो में किसान प्रदर्शन कर रहे थे, उन्हीं कृषि कानूनों को सरकार ने निरस्त करने का फैसला ले लिया है।

देश के नाम संबोधन में शुक्रवार को पीएम मोदी ने देशवासियों से माफी मांगते हुए तीनों कृषि कानूनों को वापस ले लिया और कहा कि उनकी तपस्या में ही कुछ कमी रह गई होगी, जिसकी वजह से कुछ किसानों को उनकी सरकार समझा नहीं पाई और अंत में यह कानून वापस लेना पड़ा। हालांकि, पीएम मोदी ने कृषि कानूनों को अब भी डिफेंड किया और कहा कि कुछ किसानों के न समझने की वजह से ही यह फैसला लेना पड़ा। तो चलिए जानते हैं पीएम मोदी ने अपने संबोधन में क्या-क्या कहा।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है