Covid-19 Update

2,04,887
मामले (हिमाचल)
2,00,481
मरीज ठीक हुए
3,495
मौत
31,329,005
मामले (भारत)
193,701,849
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल में यहां खुला नया ऑक्सीजन प्लांट, रोजाना 700 सिलेंडर हो सकेंगे रिफिल

अब अस्पतालों और उद्योगों में आड़े नहीं आएगी ऑक्सीजन की कमी

हिमाचल में यहां खुला नया ऑक्सीजन प्लांट, रोजाना 700 सिलेंडर हो सकेंगे रिफिल

- Advertisement -

ऊना। जिला मुख्यालय के नजदीकी ग्राम पंचायत बरनोह में ऑक्सीजन का एक बड़ा प्लांट (Oxygen Plant) शुरू कर दिया गया है। निजी क्षेत्र के इस प्लांट में रोजाना 700 सिलेंडर तक भरने की क्षमता है। जबकि आने वाले समय में इसकी क्षमता को करीब 800 सिलेंडर प्रतिदिन की दर से बढ़ाया भी जा सकता है। प्लांट के संचालकों का दावा है कि यहां से समूचे जिला के स्वास्थ्य संस्थानों (health institutions) को ऑक्सीजन की सप्लाई हो सकेगी। वहीँ उद्योगों में भी ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen cylinders) की कमी को दूर किया जायेगा। कोविड-19 के दौर में आई दूसरी लहर के दौरान उद्योग विभाग और जिला प्रशासन विशेष प्रयासों से ही यह जिला में सबसे बड़ा ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो सका है। हालांकि इस प्लांट की स्थापना का काम वर्ष 2011-12 में शुरू हो गया था। लेकिन किन्ही कारणों के चलते उस वक्त यह मुकम्मल नहीं हो पाया था। उद्योग विभाग के महाप्रबंधक अंशुल धीमान के हस्तक्षेप और प्रोत्साहन से इसे अब स्थापित करने के बाद ट्रायल बेसिस पर शुरू भी कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: कोरोना से जंग में बीसीसीआई आया आगे, 2000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर देने का ऐलान

बता दें कि कोविड-19 (Covid-19) के दौर की दूसरी लहर में ऑक्सीजन को लेकर जिस तरह से आपाधापी का माहौल पैदा हुआ। उस वक्त उद्योग विभाग और जिला प्रशासन ने बंद पड़े इस ऑक्सीजन प्लांट को शुरू करने के लिए संचालकों से बैठक की और उन्हें काफी प्रोत्साहन दिया। जिसका नतीजा यह हुआ कि अब जिला ऊना में ऑक्सीजन का सबसे बड़ा प्लांट शुरू हो गया है। इससे पहले भी जिला ऊना (Una) के गगरेट में एक ऑक्सीजन का प्लांट कार्य कर रहा है जिसकी कपैसिटी रोजाना 400 सिलेंडर तक भरने की है लेकिन अब यह न्य प्लांट शुरू होने से जिला के स्वास्थ्य संस्थानों के साथ साथ उद्योगों में आक्सीजन की कमी आड़े नहीं आएगी। वहीँ इस प्लांट के दुसरे संचालक टीएन द्विवेदी का कहना है अभी इस प्लांट में 600 से 700 सिलेंडर प्रतिदिन भरने की क्षमता है। आने वाले दिनों में इसे जरूरत के मुताबिक बढ़ाया भी जा सकता है। इसके साथ ही प्लांट से नाइट्रोजन भी 20 से 25 फीसदी तक भरी जा सकती है।


 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है