Covid-19 Update

2, 85, 014
मामले (हिमाचल)
2, 80, 820
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,140,068
मामले (भारत)
528,504,980
मामले (दुनिया)

खालिस्तान की धमकियों पर अगर सरकार नींद से जागी होती तो धर्मशाला की घटना ना होती

मुकेश बोले- बात चाहे अंधेरे की हो या दिन के उजाले की दिन जनता की सुरक्षा सरकार के जिम्मे

खालिस्तान की धमकियों पर अगर सरकार नींद से जागी होती तो धर्मशाला की घटना ना होती

- Advertisement -

ऊना। धर्मशाला स्थित हिमाचल विधानसभा परिसर में खालिस्तानी झंडे लगाए जाने पर नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने जयराम सरकार को घेरा है। ऊना में मीडिया से बातचीत के दौरान विधानसभा में खालिस्तानी झंडे लगने और उद्योग विभाग द्वारा लैंड सीलिंग को लेकर जारी की नोटिफिकेशन के मुद्दे पर सरकार को आड़े हाथ लिया। मुकेश ने कहा कि विधानसभा जैसे स्थान पर इस तरह का घटनाक्रम यह बताने के लिए काफी है कि प्रदेश की सरकार कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल हो चुके है। वहीँ लैंड सीलिंग को लेकर उद्योग विभाग द्वारा जारी अधिसूचना पर भी सरकार को जमकर निशाने पर लिया। मुकेश ने कहा कि प्रदेश की सरकार हिमाचल की जमीनों को बेचने का प्रयास कर रही है और बीजेपी सरकारों में ऐसे प्रयास पहले भी हो चुके है।

यह भी पढ़ें:सीएम जयराम बोले- हिम्मत है तो रात के अंधेरे में नहीं, दिन के उजाले में सामने आएं

उन्होंने कहा कि प्रदेश की दूसरी राजधानी धर्मशाला में विधानसभा स्थल के बाहर रात के अंधेरे में अगर खालिस्तान के झंडे लगा दिए जाएं तो यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रदेश में ऐसी घटनाएं तब भी नहीं हुई जब आतंकवाद का दौर था। अब लोग ऐसा दुस्साहस करने लगे और विधानसभा तक पहुंच जाएं तो यह चिंतनीय है। विदेश में बैठे लोग कभी शिमला में खालिस्तान के झंडों को फहराने की बात कहते हैं तो कभी ऊना में दीवारें पौंत देते हैं। लेकिन सरकार बजाए सबक लेकर सतर्क रहती और नींद से जागी होती तो ऐसा ना होता। मुकेश ने कहा कि सीएम कह रहे हैं कि रात के अंधेरे में असामाजिक तत्व कर गए लेकिन वो यह नहीं जानते कि बात चाहे अंधेरे की हो या दिन के उजाले की दिन हर पल प्रदेश की जनता की सुरक्षा उनकी और सरकार का जिम्मा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को यह बात समझ लेनी चाहिए कि इस पूरे मामले की जिम्मेदारी बीजेपी सरकार की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस घटना की निंदा करती हैं और प्रदेश में ऐसी वारदातों को अंजाम देने वाले बच कर नहीं जाने चाहिए।

यह भी पढ़ें:हिमाचल विधानसभा के बाहर लगे खालिस्तान के झंडे, दीवारों पर भी लिखा

मुकेश ने कहा कि क्या प्रदेश पुलिस की इस संबंध में कोई भूमिका नहीं है, पुलिस की भूमिका केवल पेपर लीक कराने की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में माफिया दनदना रहा है और उसे पुलिस का संरक्षण है।उन्होंने कहा कि जब से पंजाब में सत्ता परिवर्तन हुआ है, तब से प्रदेश में भी ऐसा हो रहा है। वहीं मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि जयराम सरकार राज्य को बेचने के निरंतर प्रयास कर रही है। अब सरकार ने लैंड सीलिंग एक्ट में बदलाव किए बगैर ही मात्र उद्योग विभाग की एक नोटिफिकेशन जारी कर होटल मालिकों को छूट दे दी। उन्होंने कहा कि इसमें सरकार की मंशा साफ है वो प्रदेश को बेचना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि यह राजस्व विभाग का मसला है, लेकिन राजस्व विभाग ने इसकी नोटिफिकेशन भी नहीं कि और तो और विधानसभा में बिल पास होकर राष्ट्रपति को जाना था, 68 विधायकों को भी विश्वास में नहीं लिया गया। इस सब को दरकिनार कर एक छोटी सी नोटिफिकेशन कर घोटाला किया जा रहा है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है