Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,557,583
मामले (भारत)
230,543,349
मामले (दुनिया)

आईएएस ओंकार शर्मा का विभाग बदलने पर बोले MLA राकेश सिंघा यह असंवैधानिक

कहा-सरकार ने पूरा ट्राइबल एरिया खाली छोड़ दिया

आईएएस ओंकार शर्मा का विभाग बदलने पर बोले MLA राकेश सिंघा यह असंवैधानिक

- Advertisement -

शिमला। वरिष्ठ आईएएस ओंकार शर्मा ( IAS Omkar Sharma) के लगातार हो रहे तबादले और बदलते पदभार को लेकर अब माकपा नेता और ठियोग से विधायक (Theog MLA) राकेश सिंघा (Rakesh Singha) ने भी हमला बोला है। राकेश सिंघा ने दो टूक कहा है कि यह सरकार की जिम्मेदारी बनती है। राकेश सिंघा ने साफ शब्दों में कहा कि सरकारें मनमर्जियों से नहीं नियम-कायदों और संविधान से चलती है। उन्होंने कहा कि  यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबरः HRTC कर्मियों ने 26 जुलाई तक स्थगित किया आंदोलन

राकेश सिंघा ने कहा कि व्यक्ति की पोस्टिंग किसी ट्राइबल क्षेत्र में है और वह शिमला शहर में सेवाएं दे रहा है। उन्होंने कि तनख्वाह ट्राइबल क्षेत्र से निकल रही है और ड्यूटी शहरी क्षेत्र में लगाई जा रही है। यदि कोई अधिकारी इस बात को नोटिस करता है तो आप उसे ट्रांसफर कर रहे हो तो यह असंवैधानिक है। सरकार किसी की मनमर्जी से नहीं चलती है। सरकारें नियमों के आधार पर चलती है और संविधान के तहत चलती है। यह गैर संवैधानिक है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के  अधिकारियों को इस पर स्टैंड लेना चाहिए।

 

 

इस तरह से जनजातीय क्षेत्रों के लोग सेवाओं से वंचित हो जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार ने पूरा ट्राइबल एरिया खाली छोड़ दिया है। वहां जो नियुक्ति की जाती है वो शिमला में बैठ जाता है। क्या ये अनुमति दी जा सकती है। आप जनजातीय विरोधी हैं। आप पिछड़े इलाकों के विरोधी हैं। यह कैबिनेट की सामूहिक जिम्मेदारी है। गौरतलब हो कि ओंकार शर्मा का तीन माह में तीसरा तबादला किया गया है।

विभाग बदलने के पीछे की वजह

ऐसा बताया जा रहा है कि वरिष्ठ आईएएस का विभाग डॉक्टरों के कहने पर बदला गया है। जानकारी के अनुसार आयुर्वेद विभाग में डॉक्टरों की प्रमोशन हुई, लेकिन ट्राइबल एरिया में डॉक्टर्स नहीं गए तो विभाग के प्रधान सचिव रहे ओंकार शर्मा ने उनपर कार्रवाई की। इन डॉक्टरों पर शिमला में ही प्रमोशन लेने पर एक्शन लिया गया, क्योंकि ऐसे डॉक्टर्स वेतन ट्राइबल एरिया के ले रहे थे, लेकिन शिमला में डटे हुए थे। इस पर प्रधान सचिव ने अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उन्हें डिमोट कर दिया। अब कार्रवाई के दो दिन के भीतर उनका विभाग बदल दिया गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है