Covid-19 Update

2, 52, 042
मामले (हिमाचल)
2, 33, 188
मरीज ठीक हुए
3892*
मौत
37,901,241
मामले (भारत)
336,028,920
मामले (दुनिया)

Wedding Card की जगह बनवा दिया घोंसला, अब हो रहा है वायरल

ऐसा शादी का कार्ड जिसमें रह सकती है चिड़िया

Wedding Card की जगह बनवा दिया घोंसला, अब हो रहा है वायरल

- Advertisement -

नई दिल्ली। इन दिनों देश में शादियों का सीजन चल रहा है। ऐसे में घरों में बहुत सारे शादी के कार्ड (Wedding Card) इकट्ठा हो जाते हैं, जो किसी रद्दी बन जाते हैं। लेकिन कुछ बीते कुछ महीनों से शादी के कार्ड में एक नया ट्रेंड आया है। कपल्स अपने शादी के कार्ड को अलग अलग अंदाज में डिजाइन कराते हैं, कुछ थीम्स कार्ड बनाते हैं। ऐसा ही कुछ कारनामा गुजरात के एक शख्स ने किया है।

यह भी पढ़ें:दंपति के बीच नॉन वेज खाने को लेकर हुआ विवाद सोशल मीडिया तक पहुंचा, लोगों ने लिखा ‘मटन का मोह ना छूटे’

गुजरात के एक शख्स ने ऐसा वेडिंग कार्ड छपवाया है कि जो महंगा ना होकर भी खबरों में छा गया है। यह कार्ड इतना शानदार है कि एक चिड़िया इसमें आराम से अपना घर बनाकर रह सकती है। गुजरात के भावनगर जिले के रहने वाले शिव भाई रावजी भाई गोहिल ने फैसला किया, कि उनके बेटे की शादी का कार्ड अनोखा और यादगार होना चाहिए।

इसलिए उन्होंने एक ऐसा कार्ड छपवाया, जिसे लोग फेंकना नहीं चाहेंगे। मतलब कि कूड़े में फेंकने की बजाय लोग उसे चिड़िया का घर भी बना सकते हैं। जी हां, यह कार्ड घोंसला बन जाता है, जिसमें गौरैया या दूसरी कोई छोटी चिड़िया आराम से रह सकती है।

शिव भाई के मुताबिक, यह आइडिया उनके बेटे जयेश का था। दरअसल, जयेश चाहते थे कि उनकी शादी का कार्ड ऐसा हो कि जिसका दोबारा से इस्तेमाल किया जा सके। वह नहीं चाहते थे कि लोग कार्ड को कचरे में फेंक दें।

बता दें कि असम के एक वकील का वेडिंग कार्ड (Lawyer wedding card viral) भी शामिल हो गया है। कपल ने अपने खास दिन के लिए एक संविधान-थीम वाला शादी का कार्ड छपवाया है। कार्ड में समानता का प्रतिनिधित्व करने के लिए न्याय के तराजू के दोनों ओर दूल्हा और दुल्हन के नाम लिखे गए हैं। शादी के निमंत्रण में भारतीय विवाहों को नियंत्रित करने वाले कानूनों और अधिकारों का भी उल्लेख है। कार्ड में लिखा है, “विवाह का अधिकार भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत जीवन के अधिकार का एक घटक है। इसलिए, यह मेरे लिए इस मौलिक अधिकार का उपयोग करने का समय रविवार 28 नवंबर 2021 को है।” निमंत्रण में आगे कहा गया है, “जब वकीलों की शादी होती है, तो वे ‘हां’ नहीं कहते हैं, वे कहते हैं -‘हम नियम और शर्तों को स्वीकार करते हैं।”

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है