Covid-19 Update

2, 85, 014
मामले (हिमाचल)
2, 80, 820
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,142,192
मामले (भारत)
529,039,594
मामले (दुनिया)

फुटपाथ पर पढ़ रहे बच्चे के पास स्टिक लेकर खड़े पुलिस वाले की तस्वीरें वायरल, क्या है माजरा, जानें यहां

कोलकाता पुलिस ने अपने ऑफिशियल फेसबुक अकाउंट पर शेयर की फोटो

फुटपाथ पर पढ़ रहे बच्चे के पास स्टिक लेकर खड़े पुलिस वाले की तस्वीरें वायरल, क्या है माजरा, जानें यहां

- Advertisement -

हमारे बड़े-बुजुर्ग कहते हैं, ज्ञान कहीं से भी मिले उसे ले लेना चाहिए। आजकल सोशल मीडिया (Social Media) पर बहुत सारी वीडियो और तस्वीरें वायरल हो रही हैं। कोलकाता पुलिस (Kolkata Police) की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर जल्दी-जल्दी शेयर और लाइक हो रही हैं। इन्हें कोलकाता पुलिस ने अपने ऑफिशियल फेसबुक अकाउंट (Facebook Account) पर खुद ही शेयर की है। इसके साथ एक लंबी चौड़ी पोस्ट लिखी गई है। इस पोस्ट को पढ़कर आपका दिल खुश हो जाएगा। शेयर की गई तस्वीर (Photo) में आप देख सकते हैं कि एक ट्रैफिक पुलिस कर्मी सड़क किनारे किताब लेकर बैठे एक आठ साल के बच्चे को पढ़ाता नजर आ रहा है।

यह भी पढ़ें- भैसों को नहलाने के लिए बनाया स्विमिंग पूल, फव्वारे के नीचे घंटों रहती हैं खड़ी

सड़क (Road) किनारे बैठे बच्चे को पढ़ा रहा था। ट्रैफिक पुलिस कर्मी (Traffic Police Personnel) फेसबुक पोस्ट में लिखा गया, श्शिक्षक सिपाही, जब भी वह बल्लीगंज आईटीआई (ITI) के पास ड्यूटी पर होते थे, साउथ ईस्ट ट्रैफिक गार्ड के सार्जेंट प्रकाश घोष अकसर अपने पास सड़क पर खेलते हुए लगभग साल 8 के लड़के को देखते थे। लड़के की मां सड़क किनारे होटल (Hotel) में काम करती है और अपने बेटे के बेहतर जीवन की उम्मीद में अपने बेटे को सरकारी स्कूल (Government School) में दाखिला दिलाने के लिए बहुत मेहनत की।

मां और बेटे के पास घर नहीं है और दोनों फुटपाथ पर रहते हैं, लेकिन मां को उम्मीद है कि उसका बेटा गरीबी की बेड़ियों से मुक्त होकर दुनिया (World) पर अपनी छाप छोड़ेगा। हालांकि, कक्षा 3 के छात्र की पढ़ाई में रुचि कम हो रही थी, जो उसकी सबसे बड़ी चिंताओं में से एक थीं सार्जेंट घोष से मां ने उन चिंताओं के बारे में बताया। इसके बाद उन्होंने हर तरह से मदद करने का वादा किया। जिस दिन सार्जेंट घोष की ड्यूटी (Duty) उस जगह लगाई जाती है, उस दिन वह बच्चे को पढ़ाते हैं इस दौरान वह ट्रैफिक (Traffic) की निगरानी भी करते हैं।

कई बार तो अपनी ड्यूटी खत्म होने के बाद वह उसे पढ़ाते हैं। वह बच्चे के टीचर की तरह उसे पढ़ाते हैं। इसके लिए वह अपने हाथ में एक छड़ी भी रखते हैं और बच्चे की खड़े होकर क्लास (Class) लेते हैं। बच्चे का टीचर बनकर सार्जेंट घोष उसे होमवर्क देते हैं और वापस उसे चेक करते हैं। इसके अलावा बच्चे की वर्तनी, उच्चारण और लिखावट भी ठीक करते हैं। दूसरी तरफ मां ने भी कहा है कि जब से उसके बच्चे को नया टीचर (New Teacher) मिला हैए, तब से बच्चे में काफी सुधार है। सोशल मीडिया पर यह तस्वीर काफी तेजी से वायरल हो रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है