Covid-19 Update

1,98,901
मामले (हिमाचल)
1,91,709
मरीज ठीक हुए
3,391
मौत
29,570,881
मामले (भारत)
177,058,825
मामले (दुनिया)
×

देश की पहली डेढ़ KM लंबी इलेक्ट्रिक मालगाड़ी को PM Modi ने दिखाई हरी झंडी

306 किलोमीटर लंबा है रेवाड़ी-मदार रेलखंड, पूरे ट्रैक को बनने में लगेगा एक साल

देश की पहली डेढ़ KM लंबी इलेक्ट्रिक मालगाड़ी को PM Modi ने दिखाई हरी झंडी

- Advertisement -

रेवाड़ी। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (Western Dedicated Freight Corridor) रेवाड़ी-मदार रेलखंड (Rewari Madar Railway Section) का उद्घाटन किया। यह गलियारा 306 किलोमीटर लंबा है। पीएम नरेंद्र मोदी ने इस कोरिडोर का वर्चुअल उद्घाटन (Virtual opening) करने के दौरान उन्होंने लोगों को नए साल की शुभकामनाएं दीं। इसके साथ ही उनके भाषण में कई बार किसानों का जिक्र भी आया। उन्होंने किसानों के खाते में रुपये ट्रांसफर करने वाली स्कीम की बात भी कही। पीएम (PM) ने कहा कि एनसीआर के साथ-साथ हरियाणा और राजस्थान के किसानों के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। कोरिडोर (Corridor) से पंजाब से खाद्यान व झारखंड से कोयला लाने में आसानी होगी। इससे गरीब किसानों के साथ ही छोटे और बड़े उद्योगपति को भी लाभ मिलेगा।

यह भी पढ़ें :  Modi बोले- हमीरपुर धौलासिद्ध हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर प्रोजेक्ट को मिली मंजूरी, मिलेगी बिजली और रोजगार

पीएम ने समारोह के भाषण के दौरान कहा कि हम ना रुकेंगे ना थकेंगे और तेजी से आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि हर किसी को इन परियोजनाओं पर गर्व है। मालगाड़ियों की औसत स्पीड तीन गुना बढ़ी है। यह परियोजना गेम चेंजर है। देश के लिए पहली डबल स्टैक कंटेंनर ट्रेन बड़ी उपलब्धि है। भारत इस क्षमता वाले गिने-चुने देशों में शामिल हो गया है। उन्होंने इसके लिए रेलवे को बधाई दी। पीएम ने कहा कि नव वर्ष में आगाज अच्छा हुआ है तो आगे भी अच्छा रहेगा।

क्या है पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का फायदा

पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर से दिल्ली-मुंबई इंडस्टियल कॉरिडोर (Delhi-Mumbai Industrial Corridor) से जुड़े राज्यों में विकास तेज होगा। हालांकि इसका पूरा ट्रैक बिछने में एक साल का समय लग सकता है। पीएम नरेंद्र मोदी ने फिलहाल इसके एक खंड का उद्घाटन किया है। पीएम ने जिस मालवाहक ट्रेन को हरी झंडी दिखाई यह दुनिया की पहली डबल स्टैक लॉन्ग कंटेनर इलेक्टिक ट्रेन है। करीब डेढ़ किमी लंबी यह ट्रेन न्यू रेवाड़ी-न्यू किशनगढ़-न्यू मदार के बीच चलाी गई है। इससे माल ढुलाई की दरें भी कम होंगी। एक्सपर्ट का कहना है कि इस कोरिडोर के बनने से रेलवे का 70 फीसदी ढलाई सामान शिफ्ट होगा जो बहुत बड़ा आंकड़ा है।

पीएम द्वारा हरी झंडी दिखाने के बाद यह डेढ़ किमी लंबी ट्रेन न्यू रेवाड़ी-न्यू किशनगढ़-न्यू मदार के बीच दौड़ने लगी है। इससे माल ढुलाई सस्ती होगी और यात्री गाड़ियां कम समय में अधिक दूरी तय कर सकेंगी। पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर बनने से दिल्ली-एनसीआर, यूपी, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र के बीच माल ढलाई आसान और सस्ती होगी। वर्तमान यात्री गाड़ियों पर बोझ कम होने से पैसेंजेर ट्रेन की स्पीड में भी इजाफा होगा। डब्ल्यूडीएफसी दिल्ली को आर्थिक राजधानी मुंबई से जोड़ेगा। खास बात यह है कि यह कोरिडोर डबल लाइन और इलेक्ट्रिफाइड होगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है