Covid-19 Update

56,978
मामले (हिमाचल)
55,383
मरीज ठीक हुए
955
मौत
10,579,053
मामले (भारत)
95,675,630
मामले (दुनिया)

#PM_Modi ने “मन की बात” में की कश्मीरी केसर की तारीफ, जानिए इसके औषधीय गुण

अकबर के दरबार में प्रमुख सदस्य अबुल फजल को भी किया याद

#PM_Modi ने “मन की बात” में की कश्मीरी केसर की तारीफ, जानिए इसके औषधीय गुण

- Advertisement -

जम्मू। पीएम नरेंद्र मोदी ने आज ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) कार्यक्रम में अबुल फजल को किया याद और कश्मीरी केसर की तारीफ की। पीएम (PM Modi) ने कहा कि हम दिन भर जो चीजें काम में लेते हैं उन सभी चीजों की विवेचना करें और ये देखें कि अनजाने में कौन-सी विदेश में बनी चीजों ने हमारे जीवन में प्रवेश कर लिया है। इनके भारत में बने विकल्पों का पता करें और ये तय करें कि हम आगे से भारत में बने उत्पादों का इस्तेमाल करेंगे। मोदी ने कहा कि अकबर के दरबार के एक प्रमुख सदस्य अबुल फजल थे। उन्होंने एक बार कश्मीर की यात्रा के बाद कहा था कि कश्मीर में एक ऐसा नजारा है, जिसे देखकर चिड़चिड़े और गुस्सैल लोग भी खुशी से झूम उठेंगे। केसर, सदियों से कश्मीर से जुड़ा हुआ है। कश्मीरी केसर मुख्य रूप से पुलवामा, बडगाम और किश्तवाड़ जैसे जगहों पर उगाया जाता है। पीएम मोदी ने कहा कि इसी साल मई में कश्मीर केसर को जीआई टैग दिया गया। इसके जरिए, हम कश्मीर केसर को एक अंतरराष्ट्रीय ब्रांड बनाना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें :-  ये हैं दुनिया की सबसे ठंडी जगहें, यहां पर जम जाता है सब कुछ

पीएम नरेंद्र मोदी ने कश्मीरी केसर (Kashmiri saffron) की तारीफ करते हुए कहा कि कश्मीरी केसर वैश्विक स्तर पर एक ऐसे मसाले के रूप में प्रसिद्ध है, जिसके कई प्रकार के औषधीय गुण हैं। यह अत्यंत सुगन्धित होता है, इसका रंग गाढ़ा होता है और इसके धागे लंबे व मोटे होते हैं। जो इसकी औषधीय मूल्य को बढ़ाता है। कश्मीरी केसर को जीआई टैग का सर्टिफिकेट मिलने के बाद दुबई के एक सुपर मार्किट में इसे लॉन्च किया गया। अब इसका निर्यात बढ़ने लगेगा। यह आत्मनिर्भर भारत बनाने के हमारे प्रयासों को और मजबूती देगा। केसर के किसानों को इससे विशेष रूप से लाभ होगा।

कश्मीरी केसर वैश्विक स्तर पर एक ऐसे मसाले के रूप में प्रसिद्ध है, जिसके कई प्रकार के औषधीय गुण (Medicinal properties) हैं। कश्मीरी केसर मुख्य रूप से पुलवामा, बडगाम और किश्तवाड़ जैसी जगहों पर उगाया जाता है। इसी साल मई में, कश्मीरी केसर को जियोग्रफाकिकल इंडीकेशन टैग यानि जीआई टैग दिया गया। इसके जरिए, हम, कश्मीरी केसर को एक ग्लोबली पॉप्युलक ब्रांड बनाना चाहते हैं। जुनून और दृढ़निश्चय ऐसी दो चीजें हैं जिनसे लोग हर लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं।

केसर के अन्य फायदे –

कीड़े के काटने पर केसर को त्वचा पर लगाया जा सकता है।

केसर में मौजूद मैंगनीज शरीर में ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रत करने में मदद कर सकता है।

दर्द से राहत पाने के लिए भी केसर का उपयोग किया जाता है। केसर दांत में दर्द से भी छुटकारा दिलाता है।

यह खराब पेट और पेट फूलने के इलाज में भी इस्तेमाल किया जाता है। कब्ज और सूजन को ठीक करने के लिए केसर का उपयोग हो सकता है।

केसर हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है। इसमें मौजूद कुछ खनिज और कार्बनिक यौगिक कैल्शियम की कमी को पूरा करने में मदद करते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Like करें हिमाचल अभी अभी का Facebook Page…. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है