Covid-19 Update

59,032
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
116,748,718
मामले (भारत)
11,192,088
मामले (दुनिया)

पीएम नरेंद्र मोदी असम में क्यों बोले- विदेश में भारतीय चाय को बदनाम करने की रची जा रही साजिश

बिना नाम लिए ग्रेटा थनबर्ग द्वारा शेयर की गई टूलकिट पर साधा निशाना

पीएम नरेंद्र मोदी असम में क्यों बोले- विदेश में भारतीय चाय को बदनाम करने की रची जा रही साजिश

- Advertisement -

असम। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi ) ने आज असम दौरे के दौरान एक रैली में कहा कि भारतीय चाय (Indian Tea) की छवि बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है। दरअसल पीएम नरेंद्र मोदी आज असम (Assam) दौरे पर पहुंचे थे। इस दौरान नरेंद्र मोदी ने असम के सोनितपुर (Sonitpur) जिला के ढेकियाजुली में असोम माला (Asom Mala) कार्यक्रम को का शुभारंभ किया। इस प्रोजेक्ट के तहत सड़कों के बुनियादी ढांचे को बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा पीएम ने दो अस्पतालों की आधारशिला भी रखी। इसके बाद उन्होंने एक रैली को भी संबोधित किया, जिसमें उन्होंने कहा कि कुछ विदेशी ताकतें हैं जो भारतीय चाय (Tea) को निशाना बना रहे हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने रैली में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि षडयंत्रकारी भारतीय चाय की छवि को दुनियाभर में खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ लोग तो इतना नीचे गिर गए हैं कि अब भारतीय चाय की छवि को भी नहीं छोड़ रहे है और उसे बिगाड़ने की कोशिश में जुटे हुए हैं। पीएम ने कहा कि कुछ दस्तावेज सामने आए हैं। इन दस्तावेजों से पता चलता कि विदेश में बैठी ताकतें चाय के साथ भारत की जो पहचान जुड़ी है, उस पर हमला करने की कोशिश में हैं।

पीएम ने अपने भाषण में कहा कि आपने खबरों में सुना होगा कि कुछ विदेशी ताकतें भारत की चाय की छवि को बदनाम करने की कोशिश में लगी हुई हैं और योजनाबद्ध तरीके से भारत की चाय की छवि को दुनिया में बदनाम करना चाहती हैं। पीएम ने कहा कि कुछ दस्तावेज सामने आए हैं। दस्तावेज से पीएम का इशारा टूलकिट की ओर और स्वीडन की पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग की ओर था। हालांकि पीएम ने अपने भाषण में कहीं भी ग्रेटा थनबर्ग का जिक्र नहीं किया।

बता दें कि ग्रेटा थनबर्ग ने किसान आंदोलन को लेकर एक ट्विवट किया था। इस ट्विट में ग्रेटा थनबर्ग ने लिखा था कि आप किसानों की मदद करना चाहते हैं तो आप इस टूलकिट की मदद ले सकते हैं। बताया जाता है कि इस टूलकिट में भारत के योग, चाय और विश्वगुरु वाली छवि को नुकसान पहुंचाने से जुड़ी हुई चर्चाओं का जिक्र था। हालांकि बता दें कि बाद में ग्रेटा थनबर्ग ने इस टूलकिट को हटा दिया था और इसकी जगह अपडेटिड टूल किट का लिंक शेयर किया था।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है