Covid-19 Update

2,2,003
मामले (हिमाचल)
2,22,361
मरीज ठीक हुए
3,830
मौत
34,572,523
मामले (भारत)
261,511,846
मामले (दुनिया)

स्पेशल ट्रेन और स्पेशल किराए का झंझट खत्म, अब पहले की तरह होगा सफर

रेलवे ने टिकटों के दाम तत्काल प्रभाव से घटाए

स्पेशल ट्रेन और स्पेशल किराए का झंझट खत्म, अब पहले की तरह होगा सफर

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने यात्रियों को बड़ी राहत दी है। रेलवे ने मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए विशेष टैग हटा दिए हैं। इसके अलावे कोरोना महामारी से पहले के किराए पर तत्काल प्रभाव से लौटने के निर्देश जारी किए हैं। मालूम हो कि जब से कोरोना वायरस की वजह से लगे लॉकडाउन में ढील दी गई थी, रेलवे केवल विशेष ट्रेनें चला रहा है। इसकी शुरुआत लंबी दूरी की ट्रेनों से हुई थी।

वहीं, किराए में भी इजाफा देखने को मिला था। कम दूरी की यात्रा पर भी कोरोना काल से अधिक रुपए चुकाना पड़ता था। ताकि लोग गैर जरूरी यात्रा करने से बचें। अब रेलवे बोर्ड ने शुक्रवार को जोनल रेलवे को लिखे पत्र में कहा कि ट्रेनें अब अपने नियमित नंबर के साथ परिचालित की जाएंगी और किराया कोविड पूर्व दर जैसा सामान्य हो जाएगा।

नियमित नंबर के साथ चलेंगी ट्रेनें 

बोर्ड के 12 नवंबर की तारीख वाले आदेश में कहा गया है कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सभी नियमित मेल/एक्सप्रेस ट्रेनें एमएसपीसी (मेल/एक्सप्रेस स्पेशल) और एचएसपी (होलीडे स्पेशल) के रूप में चलाई जा रही है। अब यह फैसला किया गया है कि वर्किंग टाइम टेबल, 2021 में शामिल सहित एमएसपीसी और एचएसपी ट्रेन सेवाएं नियमित नंबर के साथ परिचालित की जाएगी और किराया दिशानिर्देशों के मुताबिक यात्रा के लिए संबद्ध वर्ग व ट्रेन के प्रकार पर आधारित होगा। वहीं, रेलवे ने आदेश में कहा कि यह निर्देश यात्री विपणन निदेशालय के सहयोग से जारी किया गया है।

यह भी पढ़ें: आतंकी संगठन ने भेजा पत्र, शिमला रेलवे स्टेशन और मंदिरों को बम से उड़ाने की दी धमकी

1700 से अधिक ट्रेनें की जाएंगी बहाल 

हालांकि, आदेश में यह नहीं बताया गया है कि जोनल रेलवे को कोविड पूर्व अपनी सेवाएं कब बहाल करने की जरूरत है। इस बाबत मीडिया से मुखातिब होते हुए रेलवे बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा कि आदेश को अमलीजामा पहनाने में एक से दो दिन का समय लग सकता है।

वहीं, उन्होंने बताया कि अगले कुछ दिनों में 1,700 से अधिक ट्रेनें बहाल की जाएंगी। ट्रेन नंबर का पहला अंक शून्य (जीरो) नहीं होगा जैसा कि स्पेशल ट्रेनों के मामले में था। हालांकि, अधिकारियों ने कहा कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर लगाये गये प्रतिबंध प्रभावी रहेंगे, जैसे कि रियायत, बेड रोल (बिस्तर) और भोजन सेवाएं आदि पर पर अस्थायी प्रतिबंध जारी रहेगा।

रेलवे के राजस्व को हुआ बड़ा फायदा 

गौरतलब है कि विशेष ट्रेनों के परिचालन और किराए में रियायत नहीं देने से रेल के राजस्व में काफी रुपए जमा हुए। रेलवे ने यात्री मद से 2021-2022 की दूसरी तिमाही के दौरान पहली तिमाही की तुलना में 113 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की है। रेलवे के आदेश में यह भी कहा गया है कि सभी ट्रेनों में कोरोना से जुड़ी एहतियात और प्रतिबंध लागू रहेंगे।

इसके अलावा यह भी कहा गया है कि एडवांस में बुक हो चुकीं टिकटों पर रेलवे की ओर से ना ही कोई अतिरिक्त किराया वसूल किया जाएगा और ना ही कोई पैसा वापस किया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है