Covid-19 Update

2,2,003
मामले (हिमाचल)
2,22,361
मरीज ठीक हुए
3,830
मौत
34,572,523
मामले (भारत)
261,511,846
मामले (दुनिया)

क्या है जय श्रीराम की सच्चाई? क्यों भड़की हुई है बीजेपी? आखिरकार राशिद ऐसा क्या कहा

राशिद अल्वी ने जयश्रीराम बोलने वालों को राक्षस कहा?

क्या है जय श्रीराम की सच्चाई? क्यों भड़की हुई है बीजेपी? आखिरकार राशिद ऐसा क्या कहा

- Advertisement -

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के संभल में कांग्रेस नेता राशिद अल्वी (Congress Leader Rashid Alwi) का जय श्रीराम नारे को लेकर कही गई बात को लेकर बवाल मचा हुआ है। बीजेपी नेताओं ने राशिद अल्वी के बयान के एक हिस्से के टुकड़े को लेकर बखेड़ा खड़ा कर दिया है। उन्होंने राशिद अल्वी पर हिंदू विरोधी बयानबाजी करने का आरोप लगाया है। मामला तूल पकड़ता देख राशिद अल्वी ने बीजेपी द्वारा लगाए गए आरोपों को पूरी तरह नकारा है।

क्या है पूरा मामला

दरअसल, संभल में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने कहा कि इन दिनों जय श्रीराम बोलने वाले कुछ लोग संत नहीं है, बल्कि राक्षस हैं। इस बयान से पहले राशिद अल्वी ने रामायण (Ramayan) के उस प्रसंग का जिक्र किया, जब संजीवनी बूटी लेने के लिए हनुमानजी हिमालय जा रहे थे और संत के वेष में एक राक्षस ने उन्हें रोकने का मायाजाल रचा था। बीजेपी आईसेल के प्रमुख अमित मालवीय ने राशिद के उस हिस्से वाले वीडियो को शेयर किया हैं, जहां वे राक्षस बोलते दिख रहे हैं। जबकि पूरे वीडियो में साफ दिख रहा है कि कांग्रेस नेता राशिद अल्वी कहते हैं कि भारत के अंदर रामराज्य आना चाहिए, लेकिन रामराज्य में नफरत की कोई जगह नहीं होती है, रामराज्य में नफरत कैसे हो सकती है।

यह भी पढ़ें: कंट्रोवर्सी से हिमाचली गर्ल का है गहरा नाता: ‘पद्म श्री’ कंगना का आजादी पर कुतर्क, जानें विवादित बयानों की हिस्ट्री

राशिद अल्वी ने कहा, ‘जयश्रीराम सुनकर हनुमानजी रूके, तब उस राक्षस ने कहा कि जयश्रीराम बिना नहाए नहीं कहा जा सकता। हालांकि अभी कई लोग बिना नहाए ही जयश्रीराम बोलते हैं, खैर फिर हनुमानजी नहाने गए, जहां एक श्रापित मगरमच्छ ने उन्हें पकड़ लिया, मगरमच्छ को मुक्ति मिली और उसने संत का वेष बनाए राक्षस के बारे में सच्चाई बताई।’

कांग्रेस नेता ने कहा कि आज भी कई लोग जय श्री राम का नारा लगाते हैं। उन्होंने कहा कि वे मुनि नहीं बल्कि राक्षस हैं। वहीं, बीजेपी नेताओं द्वारा भाषण एक टुकड़े को लपकने पर राशिद अल्वी ने कहा कि मेरे भाषण के दौरान वहां सैकड़ों साधु-संत बैठे थे, मैंने हरगिज़ ये नहीं कहा कि जयश्रीराम बोलने वाला हर आदमी राक्षस होता है, मैंने कहा है कि जयश्रीराम बोलने वाला हर आदमी मुनि नहीं होता है, श्रीराम एक आस्था का नाम है, उन पर राजनीति नहीं की जा सकती है।

कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने कहा कि मैंने यह भी कहा है कि देश में सही मायने में राम राज्य आना चाहिए, जहां पर नफ़रत का नामो-निशना ना हो, बीजेपी की आदत है कि एक-एक शब्द निकाल कर उसका अनुचित प्रयोग किया जाए।’

राहुल ने कहा हम हिंदू हैं, हिंदुत्व की जरूरत नहीं

वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को पार्टी के डिजिटल ‘जन जागरण अभियान’ का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने इशारों-इशारों में पार्टी नेता सलमान खुर्शीद की किताब पर चल रहे विवाद को लेकर अपनी बात रखी। राहुल ने कहा, “आखिर हिदू धर्म और हिंदुत्व में क्या अंतर है, क्या वे एक ही बातें हैं। अगर वे एक ही बात हैं, तो हम उनके लिए एक जैसा नाम क्यों नहीं इस्तेमाल करते? ये जाहिर तौर पर दो अलग-अलग चीजें हैं। क्या हिंदू धर्म किसी सिख या मुस्लिम को मारना है, लेकिन हिंदुत्व का यही काम है। उन्होंने आरएसएस व बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि वे हिंदू हैं, मगर उनके लिए हिंदुत्व की कोई जगह नहीं है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है