Covid-19 Update

2,21,826
मामले (हिमाचल)
2,16,750
मरीज ठीक हुए
3,711
मौत
34,108,996
मामले (भारत)
242,470,657
मामले (दुनिया)

जज्बे को सलाम : Delivery के तीन हफ्ते बाद बेटी को गोद में लिए काम पर लौटीं SDM

कोरोना संकट में भी नहीं ली छुट्टी, सोशल मीडिया पर हो रही खूब चर्चा

जज्बे को सलाम : Delivery के तीन हफ्ते बाद बेटी को गोद में लिए काम पर लौटीं SDM

- Advertisement -

लखनऊ। कोरोना के समय जहां कई लोगों ने डर कर जिंदगी गुजारी, वहीं कुछ ऐसे लोग भी हैं जिन्होंने दूसरों के बारे में सोचकर अपना फर्ज बखूबी निभाया। कई ऐसे लोग हैं जिन्होंने निजी जिंदगी से ज्यादा फर्ज को अहमियत दी। इनहीं में से एक हैं मोदीनगर (Modinagar) की उप-मंडल मजिस्ट्रेट सौम्या पांडे। कोरोना संकट में सौम्या पांडे मां बनने के तीन हफ्ते बाद ही काम पर लौट आई हैं। सोशल मीडिया पर इनके जज्बे की खूब चर्चा हो रही है।

मोदीनगर की उप-मंडल मजिस्ट्रेट सौम्या पांडे (26) सात महीने की गर्भवती थीं, जब उन्हें जुलाई में कोविड के लिए गाजियाबाद जिला नोडल अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया था। ऐसे समय में जब जिले में हर दिन लगभग 100 मामले सामने आ रहे थे तो उनके पास मातृत्व अवकाश (maternity leave) लेने का बेहतर विकल्प था। लेकिन उनके लिए खुद के फर्ज से ज्यादा समाज अहम था लोगों का स्वास्थ्य । 17 सितंबर को उन्होंने मेरठ के एक अस्पताल में एक लड़की को जन्म दिया और तीन हफ्ते बाद फिर से काम पर लौट आईं। सौम्या पांडेय का कहना है कि कोविड के कारण बहुत से लोग काम कर रहे हैं जैसे की डॉक्टर, नर्स और कई अन्य। ऐसे मौके पर वो अपना आधिकारिक कर्तव्य नहीं छोड़ सकती थीं। मैंने केवल 22 दिनों की आवश्यक छुट्टी ली और डिलीवरी के तीन सप्ताह के भीतर फिर जुट गई। सौम्या कहती हैं कि उनके लिए खुद की जिम्मेदारी से अधिक परवाह समाज के प्रति जिम्मेदारी के निर्वहन करने में थी।

सौम्या पांडे को प्रवासी मजदूरों के आंदोलन को रोकने के लिए लगाया था। नोडल अधिकारी होने के नाते, मुझे प्रशासन और चिकित्सा विभाग के बीच काम करना सुव्यवस्थित करना था। मैंने कोविड अस्पतालों का दौरा किया और डॉक्टरों और रोगियों के साथ बातचीत की और उसके अनुसार डेटा का आदान-प्रदान किया। डीएम और हम सभी अन्य अधिकारियों ने कोविड हेल्पलाइन की स्थापना की ताकि सूचनाओं को पारित करने में मदद मिल सके। मैंने हर समय विशेष रूप से अस्पताल के दौरे के दौरान एक चेहरे की ढाल, मुखौटा और दस्ताने पहने, आशा करते हैं कि सावधानियां पर्याप्त होंगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है