Covid-19 Update

2,27,195
मामले (हिमाचल)
2,22,513
मरीज ठीक हुए
3,831
मौत
34,587,822
मामले (भारत)
262,656,063
मामले (दुनिया)

स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 की रैकिंग में राजधानी शिमला की फिसली रैंकिंग, जानें अपने शहर का हाल

इंदौर साल 2017 से लगातार पहले स्थान पर काबिज है

स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 की रैकिंग में राजधानी शिमला की फिसली रैंकिंग, जानें अपने शहर का हाल

- Advertisement -

नई दिल्ली/शिमला। देशभर में शनिवार को स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 (Swachh-Survekshan-2021) की लिस्ट जारी की गई। एक बार फिर से मध्यप्रदेश का इंदौर शहर देश भर में पहली रैकिंग प्राप्त की। इंदौर साल 2017 से लगातार पहले स्थान पर काबिज है। इस बार पहली रैकिंग हासिल करने साथ ही शहर ने जीत का पंच लगाया। वहीं, छत्तीसगढ़ को सबसे स्वच्छ राज्य में पहला स्थान प्राप्त हुआ है। इधर, पहाड़ की रानी व हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला की रैकिंग गिर गई है। स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में शिमला शहर की रैंकिंग 65 से गिरकर 102 पर पहुंच गई है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल कांग्रेस की पूर्व प्रभारी रजनी पाटिल को पार्टी ने थमाई बड़ी जिम्मेदारी

जानकारी के अनुसार, स्वच्छता सर्वेक्षण में 100 शहरी निकायों से कम वाले राज्यों में हिमाचल ने एक रैंक का सुधार कर पांचवां स्थान हासिल किया है। इससे पहले, वर्ष 2020 में हिमाचल छठे स्थान पर था। इस बार की रैंकिंग में झारखंड पहले स्थान पर, हरियाणा दूसरे, गोवा तीसरे उत्तराखंड चौथे स्थान पर स्वच्छता में आंका गया है। मंडी और धर्मशाला सहित कई शहरों ने स्वच्छता में सुधार किया है, जबकि स्मार्ट सिटी शिमला स्वच्छता में पिछड़ गया है और 65वें स्थान से लुढ़क कर 102 पर पहुंच गया है। एक लाख से दस लाख तक की आबादी वाले शहरों की श्रेणी में शिमला पिछड़ गया है।

स्वच्छता के लिए कुल 6000 अंक निर्धारित किए गए थे, इसमें शौचालय की स्वच्छता से लेकर साफ सफाई, ठोस कचरा प्रबंधन के लिए अपनाई जा रही व्यवस्था और स्थिति, घर-घर से कूड़ा इकट्ठा करने के साथ स्वच्छता से जुड़े कर्मचारियों के लिए कल्याणकारी योजनाएं और अन्य मानक शामिल थे।

कितने शहरों हुआ सर्वे

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में 4320 शहरों को शामिल किया गया है। जो दुनिया का सबसे बड़ा स्वच्छता सर्वेक्षण रहा। साल 2016 में इस कदम की शुरुआत पर सिर्फ 73 प्रमुख शहरों को सर्वेक्षण में शामिल किया गया था। इस बार स्वच्छता सर्वेक्षण को स्थानीय शहरियों से मिले फीडबैक के आधार पर आंका गया। इस बार लगभग पांच करोड़ फीडबैक मिले। जबकि पिछली बार संख्या 1.87 करोड़ थी। हिमाचल प्रदेश से करीब 74 हजार लोगों ने सर्वेक्षण में हिस्सा लिया और फीडबैक दी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है