Covid-19 Update

2, 84, 952
मामले (हिमाचल)
2, 80, 739
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,125,370
मामले (भारत)
523,236,943
मामले (दुनिया)

संयुक्त कर्मचारी महासंघ को तोड़ने के लिए अध्यक्ष सहित छह पदाधिकारियों का दूरदराज स्कूलों में तबादला

उच्च शिक्षा निदेशालय ने प्रशासनिक कारणों का हवाला देकर ट्रांसफर करने के दिए आदेश

संयुक्त कर्मचारी महासंघ को तोड़ने के लिए अध्यक्ष सहित छह पदाधिकारियों का दूरदराज स्कूलों में तबादला

- Advertisement -

शिमला। संशोधित वेतनमान को लेकर पिछले महीने गठित संयुक्त कर्मचारी महासंघ (Joint Employees Federation) के अध्यक्ष सहित छह पदाधिकारियों का तबादला कर दिया है। यह महासंघ पंजाब (Pujab) की तर्ज पर संशोधित वेतनमान देने की मांग उठा रहा है। उच्च शिक्षा निदेशालय ने प्रशासनिक कारणों का हवाला देकर इन शिक्षकों (Teachers) को दूरदराज के स्कूलों में ट्रांसफर करने के आदेश जारी किए हैं। बीते कुछ दिनों से महासंघ अपनी मांगों को लेकर संघर्षरत है। 27 मार्च से नाहन (Nahan) से दोबारा से अभियान शुरू करने की योजना है। इसी बीच शिक्षा निदेशालय ने पदाधिकारियों के तबादले (Transfer) कर दिए हैं।

यह भी पढ़ें:एसडीएम कांगड़ा अभिषेक वर्मा का तबादला, एडीसी काजा के पद पर तैनाती

अब इन स्कूलों में भेजे शिक्षक

संयुक्त कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष और शिमला (Shimla) के रझाणा स्कूल में कार्यरत प्रवक्ता अर्थशास्त्र वीरेंद्र चौहान को चंबा जिला के चांजू स्कूल के लिए स्थानांतरित किया गया है। राजकीय अध्यापक संघ के प्रेस सचिव और शिमला के घणाहट्टी स्कूल में कार्यरत प्रवक्ता राजनीति विज्ञान कैलाश ठाकुर को शिमला के कांगल स्कूल, संयुक्त कर्मचारी महासंघ के सोशल मीडिया सचिव और राजकीय अध्यापक संघ के जिला कांगड़ा (Kangra) अध्यक्ष व कांगड़ा के हौरीदेवी स्कूल में कार्यरत प्रवक्ता सचिन कुमार को शिमला के मांदल स्कूल, मंडी (Mandi) के खाकरैना स्कूल के प्रिंसिपल व महासंघ के सलाहकार अरुण गुलेरिया को शिमला के गिलटारी स्कूल के लिए स्थानांतरित किया गया है। महासंघ के सलाहकार व कांगड़ा के मलान स्कूल के मुख्याध्यापक सरोज मेहता को शिमला के गलेहा स्कूल, महासंघ के वेब सचिव और शिमला के घुंड स्कूल में कार्यरत टीजीटी (TGT) सुरेंद्र शर्मा को चंबा के बडग्रां स्कूल भेजा गया है।

यह भी पढ़ें:हिमाचल में जेबीटी की होगी बैचवाइज भर्ती, इन शिक्षकों को भी सौगात

सरकार की घिनौनी और कर्मचारी विरोधी कार्रवाई

हिमाचल प्रदेश संयुक्त कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष वीरेंद्र चौहान ने कहा कि कर्मचारियों (Employees) के मुद्दों को दबाने और वेतन आयोग के आंदोलन के खत्म करने के लिए महासंघ के पदाधिकारियों को प्रशासनिक कारणों का हवाला देकर दूरदराज के क्षेत्रों में स्थानांतरित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह सरकार की बहुत ही घिनौनी और कर्मचारी विरोधी कार्रवाई है। उन्होंने सरकार को सूचित किया कि इससे कर्मचारियों के मामले दबेंगे नहीं, कर्मचारियों में और आक्रोश पैदा होगा।

यह भी पढ़ें:हिमाचल में अधिकारियों का बड़ा फेरबदल, छह आईपीएस-एचपीएस ऑफिसर का तबादला

अधिकारियों पर दमनकारी नीति अपनाना असंवैधानिक

राज्य बिजली बोर्ड कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष और संयुक्त महासंघ के मुख्य समन्वयक कुलदीप खरवाड़ा ने कहा कि कर्मचारियों के अधिकारों पर दमनकारी नीति अपनाना असंवैधानिक है। कर्मचारी नेताओं के खिलाफ प्रताड़ित करने के इरादे से की गई एफआईआर वापस ली जाए और तबादलों को भी रद्द किया जाए। पंजाब की तर्ज पर वेतनमान दिया जाए। ऐसा ना होने पर संयुक्त कर्मचारी महासंघ दमनकारी नीति के खिलाफ आंदोलन को तेज करेगा।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है