×

‘कर्मचारियों से किए वादे भूली जयराम सरकार, बात सुनने को ही नहीं तैयार’

नाहन में अराजपत्रित कर्मचारी सेवाएं महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष ने लगाए आरोप

‘कर्मचारियों से किए वादे भूली जयराम सरकार, बात सुनने को ही नहीं तैयार’

- Advertisement -

नाहन। हिमाचल अराजपत्रित कर्मचारी सेवाएं महासंघ (Non Gazetted Employees Services Federation) ने सरकार पर वादाखिलाफी के आरोप लगाए हैं। नाहन में आयोजित प्रेसवार्ता में महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष विनोद कुमार ने कहा कि आज प्रदेश में लाखों कर्मचारी जयराम सरकार (Jai Ram Govt) की अनदेखी के शिकार हो रहे हैं। जो वादे कर्मियों से सत्ता में आने से पहले किए गए उन्हें सरकार भूल चुकी है। यहां तक कि सरकार कर्मियों की बात सुनने तक राजी नहीं है। प्रदेश का कर्मचारी वर्ग की जयराम सरकार को सत्ता में लाने और पूर्व सरकार को बाहर करने में अहम भूमिका रही है, लेकिन सरकार मांगों को पूरा करने की बजाय कर्मचारियों को टुकड़ों में बांटने का काम कर रही है। कर्मियों पर दबाव की राजनीति बर्दाश्त नहीं की जाएगी।


यह भी पढ़ें: धर्मशाला में कांग्रेस का दो सीटों पर फंसा पेच, कल होगी Candidates की सूची जारी

अराजपत्रित कर्मचारी सेवाएं महासंघ के राज्य अध्यक्ष विनोद कुमार ने कहा कि आज प्रदेश का कर्मचारी वर्ग अपनी मांगों को लेकर सड़कों पर हैं। यदि सरकार कर्मियों से टकराव ही चाहती है तो साफ कर दे। जबकि, सरकार कर्मियों की मांगों को पूरा कर इस पर विराम लगा सकती है। कर्मियों का ऐसा बिखराव आज तक नहीं देखा गया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने कर्मचारियों को बातचीत करने लिए बुलाना आज तक उचित नहीं समझा। जेसीसी (JCC) को अपंग कर दिया है। पे कमीशन (Pay Commission) आज तक लागू नहीं हो पाया है। एनपीएस कर्मियों का शोषण जारी है। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की इस तरह की अनदेखी महासंघ बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने सरकार से मांग की कि सरकार जल्द जेसीसी को बहाल करे। राज्य में नया पे कमीशन जल्द लागू किया जाए। इसके साथ साथ एनपीएस (NPS) कर्मियों को उनका हक देने के साथ भर्ती व पदोन्नति नियमों में संशोधन आदि मांगों को जल्द पूरा किया जाए। कर्मचारी नेताओं ने साफ किया कि हिमाचल में हमेशा ही सरकार को सत्ता में लाने में कर्मचारियों की अहम भूमिका रही है। ऐसे में मौजूदा सरकार कर्मियों को उनका आर्थिक लाभ दिलाने का जल्द फैसला ले। वरना, कर्मचारियों को भी अपना रुख बदलना पड़ सकता है। इस मौके पर अन्य कर्मचारी नेता भी उपस्थित रहे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है