Covid-19 Update

2,21,437
मामले (हिमाचल)
2,16,413
मरीज ठीक हुए
3,704
मौत
34,081,315
मामले (भारत)
241,563,005
मामले (दुनिया)

इस आइलैंड पर रहते हैं दुनिया के सबसे जहरीले सांप, एक बार गए तो जिंदा नहीं लौटते इंसान

इस आइलैंड पर रहते हैं दुनिया के सबसे जहरीले सांप, एक बार गए तो जिंदा नहीं लौटते इंसान

- Advertisement -

आपने कई तरह के आईलैंड के बारे में होगा। विश्व में कई ऐसे आईलैंड भी मौजूद है, जहां साल भर लोगों का आना-जाना लगा रहता है, लेकिन कई ऐसे भी हैं जहां इंसानों का आना-जाना मना है। ऐसे ही एक आईलैंड के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं जहां सिर्फ सांपों का बसेरा है। इस आइलैंड का नाम स्नेक आईलैंड (Snake Island) है, जिसे “इल्हा दा क्यूइमादा ग्राडें” भी कहा जाता है। वैसे तो ब्राजील (Brazil) का यह आइलैंड बहुत खूबसूरत है, लेकिन यह सिर्फ 43 हेक्टेयर का एक छोटा आकार का द्वीप है। द्वीप में हरीभरी चट्टानें बड़ी तादाद में मौजूद है, जो इसकी खूबसूरती को और बढ़ाती हैं।

यह भी पढ़ें: पालतू सांप की तरह दिखने को इस शख्स ने करवाई Surgery, स्किन से लेकर जीभ तक सब बदल दिया

 

 

इस आइलैंड की खास बात यह है कि यहां पाए जाने वाले सांप विश्व में कहीं नहीं पाए जाते। दुनिया के सबसे जहरीले सांपों (Poisonous Snakes) का बसेरा भी इसी आइलैंड पर है। ऐसा कहा जाता है कि इस आइलैंड से इंसान का जिंदा लौटकर वापस जाना लगभग नामुमकिन है। आइलैंड पर ब्राजीलियाई नौसेना को जाने की अनुमति दी गई हैं। दरअसल, सांप की बढ़ती संख्या को देखते हुए यहां लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध हैं। स्नेक आइलैंड पर वाइपर, गोल्डन लांसहेड जैसे खतरनाक प्रजाति वाले सांप भी मिलते हैं। वाइपर सांप उड़ने में सक्षम होते हैं इसलिए इन्हें खतरनाक माना गया है। कहा जाता है कि इन सांपों का जहर इतना खतरनाक है, जो इंसान का मांस तक गला सकता है। यहां अलग- अलग प्रजाति के 4 लाख से भी ज्यादा सांप रहते है। यहां पाए जाने वाले सांप बेहद दुर्लभ है। इनकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार (International market) में लाखों रुपए तक हैं। इस कारण कई तस्कर यहां आकर अवैध रूप से सांपों को पकड़ने उन्हें अंतराष्ट्रीय बाजार में बेचने की कोशिश भी करते हैं।

ऐसा माना जाता है कि जब समुद्र का जल स्तर भूमि से ढकने लगा था तब सांप इस द्वीप पर फंस गए थे। यह द्वीप ब्राजील से जुड़ा हुआ था। वहां के मौजूदा प्राकृतिक स्थिति में सांप ढल गए और धीरे-धीरे सांपों की संख्या बढ़ती चली गई और फिर लोगों के लिए यहां रह पाना मुश्किल हो गया, तब से ही इसे स्नेक आइलैंड कहा जाने लगा। इस आइलैंड में सांपों के बसे होने के कारण यहां इंसान घुसपैठ नहीं कर सकते, इसलिए यह आइलैंड जनवरों के लिए सुरक्षित है। इसके साथ ही प्रकृति की संरचना के लिए भी यह आइलैंड बहुत महत्वपूर्ण है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है