हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2017

BJP

44

INC

21

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

बच्चे की कब्र से मिली मिट्टी की बनी दो हजार साली पुरानी सीटी

हर कोई देखकर रह रहा दंग, तुर्की में चला है उत्खनन का कार्य

बच्चे की कब्र से मिली मिट्टी की बनी दो हजार साली पुरानी सीटी

- Advertisement -

तुर्की (Turkey) में एक पुरानी साइट की खुदाई चली हुई थी। इसी दौरान पुरातत्वविदों को एक बच्चे की कब्र (Child’s Grave) से करीब दो हजार साल पुरानी मिट्टी की सीटी (Old Clay Whistle) मिली है। यह खिलौना पुरानी मिट्टी की एक सीटी है। इस मिट्टी की सीटी को देखकर कोई हैरान हो गया। पुरातत्वविदों (Archaeologists) ने बताया कि यह खिलौना सीटी मिट्टी का बनाया है और शायद इस खिलौने को किसी ने गिफ्ट दिया हुआ है। यह खुदाई तुर्की के कनैकेल के आव्यासिक जिले के एक बेहरमकिले में मिले हैं। यह पुरातत्व की टीम सात हजार साल पुराने (Seven Thousand Years Old) एक प्राचीन शहर के खंडहर की साइट में उत्खनन का कार्य कर रही है। इसी दौरान पुरातत्वविदों को एक बच्चे की कब्र भी मिली। उसी के अंदर उन्हें यह सीटी भी मिली है।

यह भी पढ़ें:रसोई की खुदाई करवा रहा था कपल, निकले 264 सोने के सिक्के, सात करोड़ में बिके

इस सीटी का इतिहास छठी सदी से जुड़ा हुआ है। यह शहर समुद्र (Sea) के पास लुप्त हो चुके एक पहाड़ पर बसा हुआ था। इस शहर के इतिहास को युनेस्को ने वर्ल्ड हेरिटेज लिस्ट में भी स्थान दिया है। इस खुदाई को कनक्कल ओन्सेकिज मार्ट यूनिवर्सिटी में पुरातत्व विभाग के प्रोफेसर न्यूरोटिन अर्सलन 25 लोगों की टीम सहित कर रहे हैं। इस खुदाई के दौरान अन्य प्राचीन चीजें भी बरामद हो चुकी हैं। माना जा रहा है कि ये खिलौने बच्चों की कब्र में डाल दिए जाते थे। ज्यादातर मिट्टी से बना हुआ सामान ही बरामद हुआ है। कई बार बच्चों की कम उम्र में ही मौत हो जाया करती थी और उनके खिलौने भी साथ ही दफना दिए जाते थे। इस कब्र में जो सीटी मिली है, इसका इस्तेमाल क्लासिकल ऐज से रोमन ऐज के बीच किया जाता था। प्रोफेसर ने बताया कि यह सीटी की ऊपरी परत से ठीक से अंदाजा नहीं लगाया जा पा रहा है कि आखिर इसकी सही तारीख क्या है। मगर यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि यह सीटी रोमन काल (Roman times) या उससे पहले की ही होगी। प्रोफेसर ने बताया कि उस समय बच्चों के पास इसी तरह के खिलौने रहते थे। यह सीटी दो हजार साल पुरानी है। अलग.अलग समाज के लोगों के लिए घर था यह शहर सदियों तक यह शहर कई अलग.अलग समाज के लोगों के लिए उनका घर रहा है। इस शहर के एक मशहूर निवासी भी रहे हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है