Covid-19 Update

2, 85, 044
मामले (हिमाचल)
2, 80, 865
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,148,500
मामले (भारत)
531,112,840
मामले (दुनिया)

होली के रंग में रंगे दुनिया के इन देशों के ये अनोखे फेस्टिवल, पढ़े यहां

दुनिया के दूसरे देशों में भी होता है रंगों का सेलिब्रेशन

होली के रंग में रंगे दुनिया के इन देशों के ये अनोखे फेस्टिवल, पढ़े यहां

- Advertisement -

रंगों के त्योहार होली धूमधान से मनाया जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार यह पर्व फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है। उत्तर प्रदेश के मथुरा में होली का पर्व कई दिन पहले से शुरू हो जाता है। लोग कभी फूलों की होली, अबीर-गुलाल व लठमार होली खेलते हैं। यह ऐसा त्‍योहार है जिसमें रंगों का विशेष महत्‍व है। ज्योतिष के अनुसार इस बार पूर्णिमा तिथि 17 मार्च से शुरू होकर 18 मार्च की दोपहर 12 बजकर 52 मिनट तक रहेगी। होली के दिन लोग एक-दूसरे को रंग लगाकर पुराने गिले-शिकवे भूल जाते हैं। रंगों का ऐसा सेलिब्रेशन सिर्फ भारत में ही नहीं होता, बल्कि दुनिया के दूसरे देशों में भी होता है, लेकिन उनको मनाने की तारीखें अलग- अलग होती है और नाम तो अलग होते ही है। चलिए आज हम आप को बताते हैं कि किन देशों में होली की तरह त्योहार मनाया जाता है और वहां पर लोग इसे कहते क्या हैं।

यह भी पढ़ें- HOLI 2022: यहां दामाद को करवाई जाती है गधे की सवारी, घुमाते हैं पूरा गांव

सबसे पहले बात करते हैं अपने पड़ोसी देश म्‍यांमार की। यहां पर होली की तरह ही एक फेस्टिल मनाया जाता है। इसे वॉटर फेस्टिवल या मेकांग के नाम से भी जाना जाता है। इस खास त्‍योहार को म्‍यांमार में नववर्ष पर सेलिब्रेट किया जाता है। इस फेस्टिवल में देश लोग एक-दूसरे पर पानी की बौछार करते हैं। म्‍यांमार के लोगों का मानना है कि एक-दूसरे पर रंग डालने से पाप धुल जाते हैं।

ऑस्‍ट्रेलिया एक बहुत ही सुंदर देश है। यहां पर चिनचिला मेलन फेस्टिवल सेलिब्रेट किया जाता है। फर्क बस इतना है कि वहां पर रंगों की जगह तरबूज बिखरे नजर आते हैं। तरबूज के रस में इस खास फेस्टिवल को सेलिब्रेट किया जाता है। चारों तरफ देखकर ऐसा लगता है कि मानों तरबूज की नदियां बह रही हों। इसमें बड़ी संख्‍या में लोग शामिल होते हैं। फेस्टिवल की खुशी को लोगों के चेहरे पर देखा जा सकता है।

अब पड़ोसी मुल्क नेपाल में तो होली की तरह लोला फेस्टिवल सेलिब्रेट किया जाता है। लोला का मतलब है गुब्‍बारे। यहां रंगों से भरे गुब्‍बारों को एक-दूसरे पर फेंकने का रिवाज है। इतना ही नहीं, यहां लोगों को रंगों में डुबोने के लिए बड़े टब की व्‍यवस्‍था की जाती है। लेकिन इस फेस्टिवल में गुब्‍बारों का विशेष महत्‍व होता है।

स्‍पेन के टोमाटिना फेस्टिवल के बारे में आप ने सुना या फिर फिल्मों में देखा होगा। वहां के लोगों के लिए यह होली के सेलिब्रेशन से कम नहीं है। चौंकाने वाली बात यह है कि इस फेस्टिवल का कोई प्राचीन इतिहास नहीं है। इस फेस्टिवल में हिस्‍सा लेने के लिए दुनियाभर से लोग पहुंचते हैं और एक-दूसरे पर टमाटर फेंककर इसे सेलिब्रेट करते हैं।

पोलैंड में होली के समय अर्सीना त्योहार मनाया जाता है। इसमें फूलों से बने नेचुरल रंग और इत्र से होली खेली जाती है। ये दिन भी आपसी मतभेद को भुलाने वाला है। इस दिन लोग एक दूसरे के गले मिलकर उन्हें इस त्योहार की बधाई देते हैं।

 

रोम में भी होली का पर्व मनाया जाता है। यहां के लोग इस त्योहार को मई के महीने में मनाते हैं और लकड़ियां जलाकर बाकायदा होलिका दहन करते हैं। अगली सुबह लोग इसी के चारों ओर नाचते हुए रंग खेलते हैं और फूलों की बौछार करते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है