Covid-19 Update

2, 85, 012
मामले (हिमाचल)
2, 80, 818
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,138,393
मामले (भारत)
527,842,668
मामले (दुनिया)

Holi 2022: भारत समेत दुनिया के इन देशों में मनाया जाता है रंगों का त्योहार

अलग-अलग नामों के साथ विदेशों में मनाया जाता है ये त्योहार

Holi 2022: भारत समेत दुनिया के इन देशों में मनाया जाता है रंगों का त्योहार

- Advertisement -

कुछ ही दिनों में रंगों का त्योहार होली (Holi) आने वाला है। होली के त्योहार को लेकर बाजारों में खूब धूमधाम देखने को मिल रही हैं। हर साल फाल्गुन महीने की पूर्णिमा तिथि पर भारत के हर कोने में होली का पर्व मनाया जाता है। रंगों का त्योहार अलग-अलग नामों के साथ विदेशों में भी मनाया जाता है। विदेशों में होली को लेकर अलग-अलग मान्यताएं और कहानियां हैं।

यह भी पढ़ें:HOLI 2022: इस दिन घर लेकर आएं झाड़ू, लक्ष्मी माता होगी प्रसन्न

भारत में इस साल 18 मार्च को होली का त्योहार मनाया जाएगा। इससे एक दिन पहले यानी 17 मार्च की रात को होलिका दहन किया जाता है। होली के दिन लोग एक दूसरे पर रंग लगाते हैं। हालांकि, दुनियाभर में कोरोना (Corona) संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए होली को साधारण तरीके से मनाने की ही सलाह दी जा रही है। आज हम आपको ऐसे देशों के बारे में बताएंगे जहां होली के उत्सव को धूमधाम से मनाया जाता है।

यह भी पढ़ें- आज से शुरू हो रहे होलाष्टक, भूल कर भी न करें ये शुभ काम, होगी हानि

भारत के पड़ोसी देश नेपाल (Nepal) में भारत में मनाए जाने वाले लगभग सारे त्योहार मनाए जाते हैं। नेपाल में होली को फागु पुन्हि कहते हैं, जो फाल्गुन पूर्णिमा से मिलता-जुलता है। यहां राजतंत्र होने के दौरान महल में एक बांस का स्तंभ गाड़कर त्योहार की शुरुआत होती थी, जो पूरे हफ्ते भर चलता है। पहाड़ी इलाकों में होली भारत की होली से एक दिन पहले मनाई जाती है, जबकि तराई की होली भारत के साथ और भारत जैसी ही मनाई जाती है।

ये भी पढ़ें-होली की तरह विदेशों में मनाए जाते हैं लोला-चिनचिला मेलन-ओमेना बोंगा फेस्टिवल, पढ़ें रिपोर्ट

म्यांमार (Myanmar) में होली से मिलता-जुलता त्योहार मेकांग मनाया जाता है। वहीं, कहीं-कहीं होली को थिंगयान भी कहा जाता है। इस दिन लोग एक-दूसरे पर पानी की बौछार करते हैं और मानते हैं कि इससे सारे पाप धुल जाते हैं। हालांकि, बीते कुछ वर्षों से म्यांमार में पानी के साथ-साथ रंगों से भी खेला जा रहा है। वहीं, अफ्रीकी (Africa) देशों में होलिका दहन जैसी परंपराएं हैं। ऐसी ही एक परंपरा को ओमेना बोंगा कहते हैं। इस दिन आग जलाकर अन्न देवता को याद किया जाता है और रातभर जलती-बुझती आग के चारों ओर लोग नाचते-गाते हैं।

यह भी पढ़ें-यहां ऐसे मनाई जाती है होली, नहीं नजर आता राजा और रंक का फर्क

मॉरीशस (Mauritius) में होली बसंत पंचमी से शुरू हो जाती है और लगभग पूरा एक महीने तक चलती है। यहां होलिका दहन भी किया जाता है। कई हिस्सों में पानी की बौछार भी की जाती है। वहीं, पोलैंड (Poland) में होली के समय अर्सीना नाम का त्योहार मनाया जाता है। पोलैंड में भी इस दिन को दुश्मनी भुलाने के पर्व की तरह देखा जाता है। पोलैंड में लोग फूलों के रंग और इत्र से होली खेलते हैं।

यह भी पढ़ें:इन चीजों को उधार लेना माना जाता है अशुभ, होती है पैसों की तंगी

इसके अलावा रोम (Rome) में भी होली की रेडिका उत्सव मनाया जाता है। रोम में ये पर्व मई के महीने में मनाया जाता है। रंग खेलने के पहले रात में यहां होलिका दहन भी किया जाता है और इसके बाद अगली सुबह लोग इसी के चारों ओर नाचते हुए रंग खेलते हैं और फूलों की बौछार भी की जाती है। मान्यता है कि इससे अन्न की देवी फ्लोरा की कृपा होती है और फसलों की अच्छी पैदावार होती है।

यह भी पढ़ें:फेंगशुई उपायः घर पर ऱखेंगे ये चीज तो कभी नहीं होगी धन की कमी

वहीं, थाईलैंड (Thailand) में होली के त्योहार को सांग्क्रान कहते हैं। इस दिन लोग बौद्ध मठों में जाकर वहां से भिक्षुओं से आशीर्वाद लेते हैं और एक-दूसरे पर इत्र वाला पानी डालते हैं। इसके अलावा स्पेन (Spain) के बुनोल शहर में हर साल अगस्त में टोमाटीनो फेस्टिवल मनाया जाता है, जिसमें हजारों की संख्या में लोग जमा होकर टमाटर से होली खेलते हैं। हालांकि, इस दिन का कोई धार्मिक महत्व नहीं है, तब भी इस टमाटर फेस्टिवल (Tomato Festival) की धूम की तुलना भारत की होली से होती है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है