Covid-19 Update

2, 85, 044
मामले (हिमाचल)
2, 80, 865
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,148,500
मामले (भारत)
531,112,840
मामले (दुनिया)

NPS में निवेश करने वालों के लिए गुड न्‍यूज, जल्द मिलेगी ये बड़ी सुविधा

चार बार बदल सकेंगे निवेश पैटर्न

NPS में निवेश करने वालों के लिए गुड न्‍यूज, जल्द मिलेगी ये बड़ी सुविधा

- Advertisement -

नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) में निवेश करने वालों को जल्द ही बड़ी सुविधा मिलने वाली है। पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (Pension Fund Regulatory and Development Authority) की तरफ से घोषणा की गई है कि जल्द ही इस योजना के ग्राहकों को फाइनेंशियल ईयर के दौरान चार बार निवेश पैटर्न बदलने की अनुमति मिलेगी।

यह भी पढ़ें-इस सस्ती स्कीम से घर के सपने को पूरा करेगा यह बैंक, जानें डिटेल

बता दें अभी तक इस स्‍कीम के तहत साल में सिर्फ दो बार निवेश पैटर्न बदलने की अनुमति है। पिछले काफी समय से ग्राहक इस योजना में बदलाव की मांग कर रहे थे, जिसके चलते अब PFRDA की तरफ से यह निर्णय लिया गया है।

पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) (PFRDA) के अध्यक्ष सुप्रतिम बंद्योपाध्याय ने कहा कि अभी ग्राहक साल में दो बार निवेश विकल्प बदल सकते हैं, लेकिन जल्दी ही हम इस लिमिट को बढ़ाकर चार बार करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पीएफआरडीए केवल चाहता है कि पेंशन फंड बनाने के लिए यह एक दीर्घकालिक निवेश प्रोडक्ट बना रहे और इसे म्यूचुअल फंड योजना के समान न माना जाए। लोग कभी-कभी इसे कुछ म्यूचुअल फंड के साथ मिलाते हैं जो अच्छा रिटर्न दे सकता है। आपको इसे कुछ समय देना होगा और उसके बाद, केवल आप इसका उपयोग कर सकते हैं (विकल्प बदलना)। इसे विवेकपूर्ण तरीके से उपयोग करें, हम इसे बढ़ाने जा रहे हैं।

यहां होता है निवेश

स्कीम की तहत सब्सक्राइबर अपने निवेश को सरकारी सिक्योरिटी, एसेट-समर्थित, डेब्ट इंस्ट्रूमेंट और ट्रस्ट-स्ट्रक्चर निवेश, शॉर्ट टर्म डेब्ट इन्वेस्टमेंट और इक्विटी व संबंधित में निवेश कर सकते हैं। हालांकि, ग्राहकों के अलग-अलग सेट के लिए अलग-अलग नियम हैं। बता दें कि सरकारी क्षेत्र के कर्मचारियों इक्विटी में ज्यादा निवेश नहीं कर सकते हैं, जबकि कॉर्पोरेट क्षेत्र के कर्मचारियों को इक्विटी के लिए एसेट का 75% तक आवंटित करने की अनुमति है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है