Covid-19 Update

2,06,369
मामले (हिमाचल)
2,01,520
मरीज ठीक हुए
3,506
मौत
31,723,560
मामले (भारत)
199,307,256
मामले (दुनिया)
×

Uttarakhand Glacier Burst :बड़ी सुरंग 80 मीटर तक साफ,14 शव मिलने की पुष्टि-125 से ज्यादा लापता

दूसरी सुरंग की तलाश जारी, राहत व बचाव कार्य लगातार जारी

Uttarakhand Glacier Burst :बड़ी सुरंग 80 मीटर तक साफ,14 शव मिलने की पुष्टि-125 से ज्यादा लापता

- Advertisement -

उत्तराखंड के चमोली (Chamoli in Uttarakhand) में हुए हादसे के बाद अब तक पुलिस ने 14 शव मिलने (Bodies Found)की पुष्टि की है। कहा जा रहा है कि अभी 125 से ज्यादा लोग लापता हैं। रात भर बचाव कार्य (Rescue operations continued) जारी रहा, सुरंगों के पास से मलबा हटाया जा रहा है। ऐसी आशंका है कि इनमें काफी लोग फंसे हुए हैं। बड़ी सुरंग 80 मीटर तक साफ कर दी गई है, दूसरी सुरंग की तलाश अभी भी जारी है। माना जा रहा है कि 40 कर्मचारी इस में फंसे हुए हैं।


 

इस वक्त सेना, वायुसेना, एनडीआरएफ, आईटीबीपी व एसडीआरएफ की टीमें स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर राहत व बचाव कार्य में जुटी हुई हैं। संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने जरूरत पड़ने पर मदद की पेशकश की है। दुनियाभर के नेताओं ने भी घटना पर दुख जताया है। हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों को प्रदेश सरकार चार व केंद्र सरकार दो-दो लाख रूपए की सहायता राशि देगी।

यह भी पढ़ें: #Uttarakhand जल प्रलय : चीन से जोड़ने वाला BRO का मलारी पुल बहा, ब्रिज निर्माण में माहिर जवान भेजे

चमोली पुलिस के अनुसार, टनल में फंसे लोगों के लिए राहत एवं बचाव कार्य जारी। जेसीबी की मदद से टनल (Tunnel) के अंदर पहुंच कर रास्ता खोलने का प्रयास किया जा रहा है। अब तक कुल 15 व्यक्तियों को रेस्क्यू किया गया है एवं 14 शव अलग-अलग स्थानों से बरामद किए जा चुके हैं। वहीं, अभी टनल में 30 लोग फंसे हुए हैं । आज सुबह पौने सात बजे वायुसेना (Air Force personnel) के जवान राहत सामग्री लेकर प्रभावित स्थल की ओर रवाना हुए हैं।

यहां वायुसेना प्रभावित क्षेत्रों में हवाई सर्वे भी करेगी। इससे पहले इंजीनियरिंग टास्क फोर्स सहित सेना के जवानों के प्रयासों के बाद सुरंग का मुंह साफ किया गया। जनरेटर और सर्च लाइट लगाकर रातभर काम जारी रहा। फील्ड अस्पताल घटना स्थल पर चिकित्सा सहायता प्रदान कर रहा है। उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार (Uttarakhand DGP Ashok Kumar)ने कहा कि दहशत फैलाने की जरूरत नहीं। ग्लेशियर कल टूटा था,बोल्डर और मलबे ने तपोवन पर बड़े पैमाने पर रैणी बिजली परियोजना को नुकसान पहुंचाया। यह सब कल हुआ। दो परियोजना से 121 लोग लापता हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है