Covid-19 Update

2,04,887
मामले (हिमाचल)
2,00,481
मरीज ठीक हुए
3,495
मौत
31,329,005
मामले (भारत)
193,701,849
मामले (दुनिया)
×

गुड़िया के परिजन पहुंचे जयराम के द्वार, मामले की दोबारा जांच की उठाई मांग

सीबीआई जांच से असंतुष्ट परिजन बोले: अन्य आरोपी घूम रहे खुलेआम

गुड़िया के परिजन पहुंचे जयराम के द्वार, मामले की दोबारा जांच की उठाई मांग

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल के बहुचर्चित गुड़िया दुष्कर्म एवं मर्डर मामले (Gudiya Rape and Murder case) में सीबीआई अदालत ने आरोपी चिरानी नीलू को उम्रकैद की सजा सुना दी है, लेकिन गुड़िया के माता पिता इस जांच से संतुष्ट नहीं हैं। सीबीआई जांच (CBI investigation) से असंतुष्ट परिवार एक बार फिर सीएम जयराम के समक्ष पहुंच गया है। गुड़िया के पिता और उनकी मदद करने वाले मदद सेवा ट्रस्ट के सदस्यों ने शनिवार को राज्य सचिवालय में सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने सीएम से दो साल पहले दिए आश्वासन के अनुसार इस मामले की जांच फिर से कराने और नीलू के अलावा अन्य दोषियों को भी पकड़ने की मांग की। मदद सेवा ट्रस्ट के विकास थाप्टा ने बताया कि पिछली बार सीएम जयराम ने मुलाकात के दौरान केस कोर्ट में होने का हवाला देते हुए असमर्थता जताई थी, लेकिन अब चूंकि केस का कोर्ट में निस्तारण हो गया है इसलिए परिवार ने जयराम से दोबारा जांच कराने की मांग की है।

यह भी पढ़ें: पंजाब के पर्यटकों ने मंडी में दो युवकों पर किया तलवार से हमला, काट दी अंगुली

इसके अलावा गुड़िया के पिता ने कहा कि वह सीबीआई कोर्ट (CBI Court) के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती देंगे और आरोपी नीलू को उम्र कैद की बजाय फांसी की सजा की मांग करेंगे। गुड़िया के पिता ने कहा कि सीबीआई ने उनके विश्वास को तोड़ दिया है और अब किसी पर भी विश्वास नहीं है। उन्होंने कहा कि यह सिर्फ एक व्यक्ति का काम नहीं हो सकता, फिर भी सीबीआई ने सिर्फ एक आरोपी को पकड़ कर मामला निपटा दिया, जो कि सही नहीं है। उन्होंने कहा कि गुड़िया के अन्य आरोपी अभी भी खुलेआम घूम रहे हैं और जब तक उन सभी को सजा नहीं दिलवा देते वह चैन से नहीं बैठेंगे। उन्होंने कहा कि अगर सरकार चाहती है कि गुड़िया को न्याय मिले तो उसे जांच कराने के आदेश जारी करने चाहिए।


 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है