Covid-19 Update

2,16,303
मामले (हिमाचल)
2,11,008
मरीज ठीक हुए
3,628
मौत
33,347,325
मामले (भारत)
227,342,315
मामले (दुनिया)

Covid-19 Test का आसान और सस्ता तरीका ढूंढो और जीतो 37 Crore रुपए

Covid-19 Test का आसान और सस्ता तरीका ढूंढो और जीतो 37 Crore रुपए

- Advertisement -

नई दिल्ली। इन दिनों दुनिया भर के डॉक्टर कोरोना की वैक्सीन और टेस्ट के तरीके खोजने में लगे हुए हैं। आप भी अगर ऐसा कोई तरीका है तो आपकी लॉटरी लग सकती है। तेजी से काम करने वाले और सस्ता कोविड-19 टेस्ट (Covid-19 Test) का तरीका खोजने वाले को पांच मिलियन डॉलर्स यानी 37.39 करोड़ रुपए जीतने का मौका मिल सकता है। इनाम की यह राशि एक्सप्राइज नाम की संस्था दे रही है। यह प्रतियोगिता 6 महीने चलेगी, विजेता का नाम अगले साल के शुरुआती महीनों में घोषित किया जाएगा। गैर-सरकारी संस्था एक्सप्राइज (XPrize) ने दो दिन पहले 28 जुलाई को एक प्रतियोगिता की घोषणा की। ये प्रतियोगिता उन लोगों के लिए है जो कोविड-19 टेस्ट के सस्ते और तेज परिणाम देने वाले तरीके बता सकते हैं।

ये भी पढ़ें – 6 फीट से लंबे लोग सावधान : Corona Infected होने का खतरा दोगुने से भी ज्यादा

 

 

 

6 महीने चलने वाली इस प्रतियोगिता को ‘XPrize रैपिड कोविड टेस्टिंग’ नाम दिया गया है। इसका मकसद ये है कि जल्द से जल्द बेहतरीन और सस्ती कोविड-10 टेस्टिंग किट तैयार हो, जो तेजी से भरोसेमंद रिजल्ट दे सके। इससे पूरी मानवता को फायदा होगा। XPrize ने कहा कि हम इतना सरल और सहज टेस्टिंग किट बनवाना चाहते हैं जिसे कोई छोटा बच्चा भी उपयोग कर सके। टेस्ट के परिणाम आने का कम से कम समय 15 मिनट होना चाहिए। अभी एक कोविड-19 टेस्ट पर करीब 100 डॉलर यानी 7479 रुपए का खर्च आ रहा है। ये घटकर 15 डॉलर होना चाहिए यानी 1121 रुपए। XPrize ने कहा है कि हम कुल मिलाकर पांच विजेता टीमों का चयन करेंगे। हर टीम को 1 मिलियन डॉलर यानी 7.47 करोड़ रुपए दिए जाएंगे। इनमें पीसीआर टेस्ट के तरीके हों या एंटीजेन टेस्ट के तरीके हो, बस वो सहज और सरल होना चाहिए।

 

जीतने वाली हर टीम को दो महीनों तक लगातार हर हफ्ते कम से कम 500 कोविड-19 टेस्ट करने होंगे। लेकिन वो इसे बढ़ाकर 1000 टेस्ट प्रति सप्ताह या उससे ज्यादा भी कर सकते हैं। XPrize के सीईओ अनुशेह अंसारी ने कहा कि टेस्टिंग की कमी की वजह से कई कोविड केस का पता नहीं चलता। अगर लोगों को सही समय पर जांच रिपोर्ट (Test report) मिल जाए तो इलाज में आसानी हो। अनुशेह अंसारी ने कहा कि इसीलिए हम प्रतियोगिता में चार कैटेगरी रखी है। इन कैटेगरीज के तहत प्रतियोगी भाग ले सकते हैं। ये कैटेगरी हैं- एट होम, प्वाइंट ऑफ केयर, डिस्ट्रीब्यूटेड लैब और हाई-थ्रोपुट लैब।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है