Covid-19 Update

2,05,874
मामले (हिमाचल)
2,01,199
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,579,651
मामले (भारत)
197,642,926
मामले (दुनिया)
×

गुड़िया मामला: सजा के बाद बोला नीलू चिरानी- मैं बेकसूर, सीबीआई ने गलत फंसाया; जाऊंगा हाइकोर्ट

नीलू चिरानी ने सीबीआई पर झूठा खेल रचने के लगाए आरोप

गुड़िया मामला: सजा के बाद बोला नीलू चिरानी- मैं बेकसूर, सीबीआई ने गलत फंसाया; जाऊंगा हाइकोर्ट

- Advertisement -

शिमला। कोटखाई में हुए गुड़िया रेप और मर्डर मामले (Gudiya Rape -Murder Case) में दोषी करार दिए गए नीलू चिरानी (Neelu Chirani) को आखिरकार आज आजीवन कारावास की सजी सुनाई गई। सजा मिलने के बाद अदालत से बाहर आए नीलू चिरानी ने अपने आप को बेकसूर बताया। नीलू चिरानी ने कहा कि वह अदालत के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट (HighCourt) में अपील करूंगा। मुझे सीबीआई ने गलत फंसाया है, मैंने ऐसा कुछ नहीं किया। नीलू ने कहा कि किसने क्या किया मुझे कुछ नहीं पता, लेकिन उस दिन में वहां था ही नहीं। शुक्रवार को जिला एवं सत्र न्यायालय चक्कर में सज़ा का एलान होने के बाद कोर्ट परिसर से बाहर जाते हुए नीलू ने कहा कि उसका इस मामले से कोई लेना.देना नहीं है। वह गुड़िया को जानता तक नहीं था। उसे फंसाने के लिए सीबीआई (CBI) द्वारा झूठा खेल रचा गया है। सीबीआई के डीएनए परीक्षण के मिलान पर नीलू ने कहा कि ये सब गलत है। घटना के वक्त वो वहां मौजूद ही नहीं था। सीबीआई वालों ने मनगढ़ंत कहानी बनाई है। वहीं  बचाव पक्ष के अधिवक्ता ने भी इस फैसले के खिलाफ उच्च न्यायालय में अपील करने की बात कही है। उनका कहना है कि मामले में अनिल कुमार के खिलाफ जांच एजेंसी ने सिर्फ परिस्थितिजनक साक्ष्यों के आधार सजा सुनाई है,जबकि दोषी के खिलाफ जांच एजेंसी उसके मौका-ए-वारदात पर मौजूदगी को लेकर कोई ठोस साक्ष्य पेश नहीं कर पाई है।

यह भी पढ़ें: गुड़िया रेप एंड मर्डर केस : विक्रमादित्य ने कहा-गरीब पर मार, असली गुनहगार हैं फरार

बता दें कि 4 जुलाई, 2017 को दसवीं की छात्रा स्कूल से लौटते समय लापता हो गई थी और दो दिन बाद छात्रा का शव कोटखाई में तांदी के जंगल में नग्न अवस्था में मिला था। मामले की जांच कर रही सीबीआई (CBI) की ओर से दायर चार्जशीट के तथ्यों को आधार मानते हुए अदालत (Court) ने दोषी को नाबालिग से दुष्कर्म के जुर्म में मरते दम तक आजीवन कारावास और हत्या मामले में आजीवन कारावास सहित दस हजार रुपये जुर्माना लगाया है। जुर्माना न भरने की सूरत में दोषी को एक साल का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। दोषी को शुक्रवार को विशेष अदालत में कड़ी सुरक्षा के बीच पेश किया गया। अदालत ने दोपहर करीब दो बजे दोषी को सजा सुनाई।


यह भी पढ़ें: ब्रेकिंगः गुड़िया रेप व मर्डर के दोषी नीलू चिरानी को आजीवन कारावास

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है