Covid-19 Update

2,05,383
मामले (हिमाचल)
2,00,943
मरीज ठीक हुए
3,502
मौत
31,470,893
मामले (भारत)
195,725,739
मामले (दुनिया)
×

पूर्व PM मनमोहन के वार पर नड्डा का काउंटर: ये वही Congress है जिसने बिना लड़े जमीन सरेंडर की

पूर्व PM मनमोहन के वार पर नड्डा का काउंटर: ये वही Congress है जिसने बिना लड़े जमीन सरेंडर की

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत-चीन सीमा पर जारी तनाव के बीच पूर्व पीएम मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने सोमवार को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को आड़े हाथों लिया। मनमोहन सिंह ने लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Vally) में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प और 20 भारतीय जवानों की शाहादत के मसले पर अपनी चुप्पी तोड़ी तो, उनके इस बयान से बीजेपी आगबबूला हो गई। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मनमोहन सिंह के बयान को शब्दों का खेल करार देते हुए कहा कि वो उसी पार्टी से जुड़े हैं जिसकी सरकार के दौरान बिना लड़े ही भारतीय जमीन सरेंडर कर दी गई। जेपी नड्डा (JP Nadda) ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के बयानों का जवाब देते हुए एक के बाद एक कई ट्वीट किए।

यह भी पढ़ें: हिंसक झड़प पर बोले Manmohan Singh – पूरे राष्ट्र को एकजुट होकर देना चाहिए जवाब

भारत पूरी तरह पीएम नरेंद्र मोदी पर विश्वास करता है और समर्थन करता है

पूर्व पीएम ने अपने लिखित बयान में चीन विवाद पर पीएम मोदी को नसीहत देते हुए कहा है कि झूठ के आडंबर से सच छुपाया नहीं जा सकता। इसके अलावा पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने ऐसी कई और टिप्पणियों के जरिए पीएम नरेंद्र मोदी पर सीधा निशाना साधा। इन्हीं टिप्पणियों का जवाब देते हुए बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने लिखा कि, ‘डॉ मनमोहन सिंह उसी पार्टी से ताल्लुक रखते हैं, जिसने 43000 किलोमीटर भारतीय हिस्सा चीन के सामने सरेंडर किया है। यूपीए सरकार (UPA Govt) के दौरान निकृष्ट रणनीति देखी गई और बिना लड़े जमीन सरेंडर कर दी गई।’


बीजेपी (BJP) अध्यक्ष ने आगे लिखा कि भारत पूरी तरह पीएम नरेंद्र मोदी पर विश्वास करता है और समर्थन करता है। 130 करोड़ भारतीयों ने परीक्षा की घड़ी में पीएम मोदी के नेतृत्व को देखा है, उन्होंने हमेशा राष्ट्र को सबसे ऊपर रखा है। नड्डा ने लिखा कि डॉ मनमोहन सिंह निश्चित रूप से विभिन्न विषयों पर अपने विचार साझा कर सकते हैं, लेकिन पीएमओ (PMO) की जिम्मेदारी उनकी नहीं है। उस ऑफिस से यूपीए वाला सिस्टम साफ हो गया है, जहां सुरक्षाबलों का अपमान भी किया जाता था।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है