Covid-19 Update

2, 54, 410
मामले (हिमाचल)
2, 34, 850
मरीज ठीक हुए
3899*
मौत
38,218,773
मामले (भारत)
340,535,968
मामले (दुनिया)

हिमाचल: चरखे से नहीं मिली आजादी… कंगना का बयान सही, महाराष्ट्र के लोगों की एंट्री करेंगे बंद

हिमाचल बचाओ संघर्ष मोर्चा ने महाराष्ट्र सरकार-शिवसेना को दी चेतावनी

हिमाचल: चरखे से नहीं मिली आजादी… कंगना का बयान सही, महाराष्ट्र के लोगों की एंट्री करेंगे बंद

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल बचाओ संघर्ष मोर्चा ने अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के बयान का समर्थंन किया है। उनका कहना है कि चरखे से आजादी नहीं आई, महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) ने अंग्रेजों के एजेंट के रूप में काम किया है। कंगना रनौत के आज़ादी (freedom)वाले बयान का मोर्चा करता समर्थंन है । हिमाचल बचाओ संघर्ष समिति मोर्चा के अध्यक्ष लक्षमेंद्र सिंह ने शिमला में कहा कि कंगना रनौत द्वारा दिया गया बयान सही है।

यह भी पढ़ें: हिमाचली गर्ल कंगना को मिली जान से मारने की धमकी, मनाली थाने में FIR दर्ज, बठिंडा का है आरोपी

महात्मा गांधी के चरखे से देश को आजादी नहीं मिली है। उसका बालीवुड इंडस्ट्री को लेकर दिया गया बयान भी सही है। उन्होंने कहा कि सभी को अभिव्यक्ति की आजादी का अधिकार है। उन्होंने कहा कि उनका घर तोड़े जाना निंदनीय है। अगर उन्हें महाराष्ट्र सरकार (maharastra goverment) व शिवसेना द्वारा तंग करना बंद नहीं हुआ तो हिमाचल में भी महाराष्ट्र से आने वाले व शिवसेना (shivsena )की एंट्री बंद कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि शिवसेना के साथ चल रहे विवाद के चलते कंगना के माता.पिता आज घर में कैद होने को मजबूर है।

महिलाओं पर बढ़ने लगी हिंसा, घरेलु काम का कोई मोल नहीं

शिमला। अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति हिमाचल प्रदेश राज्य कमेटी ने आज महिला (women)और दलित मुद्दों पर अधिवेशन का आयोजन किया। अधिवेशन में प्रदेश के विभिन्न जिलों से महिलाओं ने अपनी भागीदारी सुनिश्चित की अधिवेशन में महिलाओं ने अपने साथ जाति के तौर पर भेदभाव तथा एक औरत के तौर पर भेदभाव भी साझा किए, किस तरह से उनके साथ प्रताड़ना हुई । अधिवेशन को जनवादी महिला समिति की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुभाषिणी अली ने संबोधित किया । राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने कहा कि आज भाजपा आरएसएस की सरकार संविधान को हटाकर मनुस्मृति को लागू करना चाहती है और इस सरकार में महिलाओं के श्रम को लूटा जा रहा है और महिलाएं जो घरेलू काम करती है उसका कोई मोल नहीं होता है।

उन्होंने कहा कि महिलाओं के ऊपर लगातार हिंसा बढ़ रही है। दलित महिलाओं के ऊपर कही ज्यादा हिंसा हो रही है। उन्होंने गुड़िया मामले (gudiya case)और हाथरस मामले को चिन्हित करते हुए कहा कि इन्हें अभी तक न्याय नहीं मिला है। अधिवेशन में संगठन को महिलाओं को लामबंद करने के लिए दिशा.निर्देश भी दिए । महिला समिति की राज्य सचिव फालमा चौहान ने कहा कि आने वाले समय में महिलाओं के मुद्दों को कैसे उठाना हैए महिला समिति को पूरे प्रदेश में कैसे मजबूत करना है ए अगले एक महीने तक महिला समिति पूरे प्रदेश में इस तरह के अधिवेशनों का आयोजन करेगी। अंत मेंराज्य अध्यक्ष रीना सिंह ने सभी डेलिगेट्स का धन्यवाद किया और अधिवेशन का समापन किया। सम्मेलन को सात सदस्यों के अध्यक्ष मंडल ने संचालित किया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है