Covid-19 Update

2, 48, 895
मामले (हिमाचल)
2, 31, 328
मरीज ठीक हुए
3885*
मौत
37,618,271
मामले (भारत)
332,278,790
मामले (दुनिया)

हिमाचल: भारी बारिश-बर्फबारी में भी नहीं टूटा करुणामूलक संघ का हौसला, जारी है भूख हड़ताल

अपनी मांगों को लेकर 165 दिन से भूख हड़ताल पर बैठा है करुणामूलक संघ

हिमाचल: भारी बारिश-बर्फबारी में भी नहीं टूटा करुणामूलक संघ का हौसला, जारी है भूख हड़ताल

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में भूख हड़ताल (Hunger Strike) पर बैठे करुणामूलक संघ के हौंसलों को भारी बारिश और बर्फबारी भी नहीं डगमगा पाई है। करुणामूलक संघ के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमारए मीडिया प्रभारी गगन का कहना है कि जब तक सरकार हमारे बारे में फैसला नहीं लेतीए तब तक हम इसी तरह क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे रहेंगे। अजय कुमार का कहना है कि कुछ समय पहले जयराम कैबिनेट (Jai Ram Cabinet) के आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर की बेटी एक दिन के धरने पर बैठी और दूसरे ही दिन उनकी मांगें मान ली गईं, क्योंकि वह एक मंत्री की बेटी थी।

यह भी पढ़ें-बर्फबारी: हिमाचल के एक ही जिला में 200 से ज्यादा लोकल बस रूट पर यातायात प्रभावित

उन्होंने कहा कि अगर सीएम जयराम (CM Jai Ram) अपने मंत्री की बेटी के साथ न्याय कर सकते हैं तो हम करुणामूलक आश्रितों के साथ अन्याय क्यों। हमें क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे 165 दिन हो गए हैं लेकिन सरकार ने हमारी कोई सुध नहीं ली है। सरकार ने कैबिनेट में क्लास डी के लिए लिए निर्णय लिये थे लेकिन अभी तक उनकी भी अधिसूचना जारी नहीं की गई है। अध्यक्ष अजय कुमार ने साफ कह दिया है कि करुणामूलक संघ की क्रमिक भूख हड़ताल को 165 दिन हो चुके है और जब तक फैसला नहीं हो जाता, तब तक क्रमिक भूख हड़ताल जारी रहेगी।

करुणामूलक संघ (Karunamulak sangh) ने चेतावनी दी है कि अगर प्रदेश सरकार आगामी कैबिनेट में इन परिवारों के हित में फैसला नहीं लेती तो उग्र आंदोलन होगा। उन्होंने कहा कि सरकार या प्रशासन द्वारा इनके साथ कुछ जबरदस्ती की जाती है तो संघ चुप नहीं बैठेगा। वर्तमान सरकार के अड़ियल रवैये के कारण आज करुणामूलक परिवार 165 दिनों से क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे हैं, लेकिन सरकार इनकी तरफ नहीं देख रही। एक तो इन परिवारों ने अपने घर का सदस्य खोया है ऊपर से इन परिवारों पर सरकार कोई फैसला नहीं ले पा रही। सरकार की मनमानी के चलते ही इन परिवारों को सड़कों पर उतरने का मजबूर होना पड़ा है। उनका कहना है कि या वर्तमान सरकार हमें नौकरी दे अन्यथा हम इसी तरह भूख हड़ताल पर बैठे रहेंगे।


हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है