Covid-19 Update

2,26,859
मामले (हिमाचल)
2,22,190
मरीज ठीक हुए
3,825
मौत
34,555,431
मामले (भारत)
260,661,944
मामले (दुनिया)

हिमाचल: BJP की नैया डूबने के बाद, कृपाल की FB पोस्ट, वापस आने का किया ऐलान

कृपाल परमार की फेसबुक पोस्ट काफी हो रही वायरल, जानें वजह

हिमाचल: BJP की नैया डूबने के बाद, कृपाल की FB पोस्ट, वापस आने का किया ऐलान

- Advertisement -

फतेहपुर। हिमाचल उपचुनाव (Himachal By Election) में बीजेपी (BJP) चारों खाने चित हो गई है। लानत मलानत का दौर जारी है। बागी पार्टी की हार पर ताल ठोक रहे हैं। बीजेपी प्रत्याशियों की सियासी नैया डूबने पर मंद मंद मुस्कुरा रहे हैं। यही मुस्कुराहट बाहर भी आ रही है। बीते कुछ घंटों से पूर्व राज्यसभा सांसद कृपाल परमार (Kripal Parmar) का एक फेसबुक पोस्ट जमकर वायरल हो रहा है। उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा है, ‘मुझे निकाल कर पछता रहे होंगे, यही सोच कर मैं वापस आ गया हूं…’

यह भी पढ़ें:जेओए आईटी और करूणामूलक आधार पर होने वाली भर्तियों पर क्या बोले सीएम जयराम, जाने

कृपाल परमार के इस पोस्ट पर कुछ ही मिनट में सैंकड़ों लाइक्स और कमेंट्स आए हैं। अधिकतर लोग इसे परमार की जिंदादिली करार दे रहे हैं और उनका स्वागत कर रहे हैं। पोस्ट में सबसे ऊपरी पंक्ति में कृपाल परमार ने “फतेहपुर की जनता का सेवक” शब्द भी लिखा है। परमार के इन्हीं शब्दों को उनके चाहने वाले परमार की सच्चाई करार दे रहे हैं और कह रहे हैं कि परमार फतेहपुर की जनता के सच्चे सेवक रहे हैं। 2017 में विधानसभा चुनाव हार जाने के बाद भी कृपाल परमार जनता के बीच रहे और जनसमस्याओं के समाधान के लिए काम करते नजर आए।

उपचुनाव में कट गई टिकट

हाल ही में हुए उपचुनाव में ऐन वक्त पर उनकी टिकट काट दी गई और उन्होंने उसपर भी सार्वजनिक तौर पर कोई टिप्पणी नहीं की। उन्होंने इसे हाईकमान का फैसला बताकर स्वीकार कर लिया। हालांकि स्वास्थ्य कारणों से वह चुनाव प्रचार में नहीं उतरे। लेकिन उन्होंने कहीं भी खुले मंच से पार्टी के फैसले का विरोध नहीं किया। शायद उनकी यही बात उन्हें जनता की नजरों में हाल ही में बीजेपी प्रत्याशी रहे बलदेव ठाकुर से अलग बना गई। क्योंकि 2017 में बलदेव ठाकुर ने टिकट कटने पर बीजेपी से बगावत कर दी थी और माना यह गया कि उनकी वजह से पार्टी को हार का सामना भी करना पड़ा।
कार्डर में रही नाराजगी

हाल ही में हुए उपचुनावों में भले ही कृपाल परमार ने बगावत नहीं की लेकिन पार्टी फिर भी हार गई। क्योंकि कई लोग इस बात से ही खफा थे कि आखिर बीजेपी फतेहपुर में बार-बार प्रत्याशी क्यों बदल रही है। वहीं, परमार का चार साल तक फील्ड में रहकर जनता से जुड़े रहना और ऐन वक्त पर उनकी टिकट काटना भी आम लोगों के साथ-साथ कृपाल परमार के समर्थकों को खटक गया। जबकि जो बलदेव ठाकुर पार्टी से बागी होकर आजाद लड़े और फिर जनता के बीच नहीं दिखे, उनको टिकट देना भी फतेहपुर के बीजेपी कार्यकर्ताओं और परमार समर्थकों की समझ से परे रहा।

जनता का मूड नहीं समझ पाए जयराम

ऐसे में नतीजा यह हुआ कि मंत्रियों-विधायकों के साथ-साथ दर्जनों पदाधिकारियों की फौज भी फतेहपुर को फतेह नहीं कर पाई। यहां तक कि खुद सीएम जयराम ठाकुर और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी फतेहपुर में बीजेपी प्रत्याशी बलदेव ठाकुर के लिए प्रचार किया। लेकिन जनता ने उनकी नहीं सुनी। वहीं, इस हार के बाद यह तो तय हो गया कि जिस बलदेव ठाकुर पार्टी जिताऊ प्रत्याशी समझ रही थी वह कहीं न कहीं कमजोर दिखे।

दूसरी तरफ इस उपचुनाव में खड़े अन्य प्रत्याशी भी कृपाल परमार को जीत का सशक्त दावेदार मान रहे थे। उनका कहना था कि परमार ने हारने के बावजूद भी जनता के बीच रहकर काम किया है और जनसमस्याओं को दूर करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

विरोधी भी मानते हैं इसे हार की वजह

विरोधियों की मानें तो भाजपा ने गलत प्रत्याशी का चयन करके खुद ही अपनी जीती हुई सीट हार ली। यदि बलदेव ठाकुर की बजाए कृपाल परमार को पार्टी टिकट देती तो नतीजे निश्चित तौर पर भाजपा के पक्ष में होते।

 

खैर उपचुनावों में बीजेपी की तीनों विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर हार हुई है। बीजेपी भी हार के कारणों पर मंथन की तैयारी में है। फतेहपुर में हार का ठीकरा किसके सिर फूटेगा यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा लेकिन कृपाल परमार के पोस्टर से राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि पोस्टर आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव को देखते हुए जारी किए गए हैं। जिसके चलते फतेहपुर सहित कांगड़ा बीजेपी में ऊथल पुथल मच गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है