Covid-19 Update

2,05,061
मामले (हिमाचल)
2,00,704
मरीज ठीक हुए
3,498
मौत
31,396,300
मामले (भारत)
194,663,924
मामले (दुनिया)
×

बच्ची से दुष्कर्म का प्रयास करने के दोषी को साढ़े तीन साल की कैद

बच्ची से दुष्कर्म का प्रयास करने के दोषी को साढ़े तीन साल की कैद

- Advertisement -

minor girl : ऊना। हरोली उपमंडल के तहत एक गांव में सात साल की मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म का प्रयास करने के 41 वर्षीय आरोपी को जिला एवं सत्र न्यायधीश डीआर ठाकुर की अदालत ने दोषी करार देते हुए आईपीसी और पोक्सो एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत साढ़े तीन साल का कठोर करावास और 6 हजार रुपये जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई है। जानकारी देते हुए जिला न्यायवादी अशोक धीमान ने बताया कि 7 मार्च 2016 को पीड़िता की माता ने हरोली थाने में शिकायत दर्ज करवाई कि उसकी बेटी अपने साथी बच्चों रविंद्र सिंह और कुलविंद्र सिंह के साथ घर के बाहर खेल रही थी।

  • 6 हजार रुपये जुर्माना भी किया, जुर्माना न देने पर  3 माह का अतिरिक्त कारावास 

इसी दौरान उसके पड़ोस में रहने वाला 41 वर्षीय कुलवंत सिंह बच्ची को अपने कमरे में ले गया, जहां उसने कमरे के दरवाजे को अंदर से कुंडी लगाकर बंद कर लिया और टेलीविजन की आवाज को बढ़ा दिया। कुलवंत ने बच्ची के साथ दुष्कर्म का प्रयास किया। वहीं बच्ची के चीखने की आवाजें सुनकर उसके दोनों साथी रविंद्र और कुलविंद्र मौके पर पहुंच गए। उन्होंने जोर-जोर से दरबाजा खटखटाना शुरु कर दिया, जिस पर कुलवंत सिंह ने फौरन अपने कपड़े पहने और बाहर आ गया। वहीं बच्ची ने घर पहुंच कर सारी घटना की जानकारी दी। एके धीमान ने बताया कि पुलिस ने केस दर्ज करने के बाद पीड़ित बच्ची की पायजामी पर मिले साक्ष्य और आरोपी का डीएनए मैच करवाया। टेस्ट में आए नतीजों से तमाम तथ्य मिल गए। उन्होंने बताया कि अदालत ने कुलवंत सिंह को आईपीसी की धारा 376, 511 के तहत साढ़े तीन साल कठोर कारावास और तीन हजार रुपये जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई। वहीं पोक्सो एक्ट की धारा 8 के तहत भी साढ़े तीन साल की कठोर कैद और 3 हजार रुपये जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई। दोनों सजाएं साथ-साथ चलेंगी। वहीं, जुर्माना न देने की सूरत में दोषी को 3 माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा।


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है