Covid-19 Update

2, 85, 012
मामले (हिमाचल)
2, 80, 818
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,138,393
मामले (भारत)
527,842,668
मामले (दुनिया)

बेबी का नाम रखने को इस महिला ने बनाया करियर, नाम बताने के लेती है लाखों रुपए

न्यूयॉर्क में रहती है पेशवर बेबी नेमर टेलर ए हम्फ्री

बेबी का नाम रखने को इस महिला ने बनाया करियर, नाम बताने के लेती है लाखों रुपए

- Advertisement -

देश में हर माता-पिता अपने बच्चे (Child ) का नाम यूनिक और अलग तरह का रखने की कोशिश करते है। वे रिश्तेदारों और ऑनलाइन साइट (Online Site) का भी सहारा लेते हैं। कई बार माता-पिता को अपने बच्चों का नाम तय करने में काफी मुश्किल होती है। इसके चलते एक महिला को नया आइडिया (New Idea) आया, क्यों ना बच्चों के नाम बनाने का व्यवसाय शुरू किया जाए। महिला ने इस काम को अपना करियर बनाया और एक पेशेवर बेबी नेमर बन गई।

यह भी पढ़ें:मौत ऊपर से गुजर रही थी, वो फोन पर बराबर बात कर रही थी-देखें गजब का वीडियो

इस महिला का नाम है टेलर ए हम्फ्री (Taylor A Humphrey)। 33 साल की टेलर न्यूयॉर्क में रहती हैं। उन्होंने बताया किए क्लाइंट उन्हें अपने बच्चों के नाम रखने के लिए 10,000 डॉलर (7.6 लाख रुपए) तक का भुगतान करते हैं। भारत (India) में आमतौर पर बच्चों के नाम के लिए हिंदू धर्म में एक संस्कार होता है। उसमें वैदिक रीतिरिवाज से जन्म तिथि के हिसाब से बच्चों का नामकरण (Naming) किया जाता है। वहीं कई बार लोग अपनी पसंदीदा शख्सियत या फिर देवी देवता के नामों पर अपने बच्चों का नाम रख देते हैं।

 

 

अब हर साल कमा रही है लाखों रुपए

टेलर ए हम्फ्री व्हाट्स इन ए बेबी नेम की संस्थापक हैं। जो एक बुटीक कंसल्टेंसी (Boutique Consultancy) है जो माता-पिता के प्रश्न और उत्तरों के आधार पर बच्चे के नामकरण करने वाली एक फुल टाइम सर्विस (Full Time Service) प्रदान करती है। टेलर की सेवाएं 1,500 डॉलर (1.14 लाख रुपए) से शुरू होती हैं और डिमांड के आधार पर कीमतें बढ़ती हैं। द न्यू यॉर्कर की रिपोर्ट (The New Yorker reports) के अनुसार, 10000 डॉलर की कीमत पर, वह एक बच्चे का नाम बताएंगी जो माता-पिता के व्यवसाय के साथ ऑन ब्रांड (On Brand) होगा।

 

 

टेलर ने 2020 में 100 से अधिक बच्चों का नाम रखे

टेलर ने 2020 में 100 से अधिक बच्चों का नाम रखे हैं। अमीर माता-पिता से $ 150, 000 (लगभग 1,14 करोड़) से अधिक की कमाई की। टेलर ने 2015 में कारोबार शुरू किया था। उस समय वह मुफ्त में नाम सुझाती थीं। 2018 में, उसने महसूस किया कि वह अपनी नामकरण सेवाओं की मांग को एक आला व्यवसाय में बदल सकती हैं। टेलर ने बताया कि यदि आप सबसे लोकप्रिय बच्चे के नामों को देखते हैं तो यह हमारे सांस्कृतिक मूल्यों और हमारी आकांक्षाओं का एक प्रतीक है।

सर्विस के लिए देने पड़ती है ये जानकारी

माता-पिता (Parents) को अपने बच्चे के लिए आदर्श नाम खोजने में मदद करने के लिए टेलर पुराने परिवार के नाम खोजने के लिए वंशावली जांच करती हैं। वहीं से नामों को निकलती हैं। टेलर ने एक जोड़े के बच्चे का नाम पार्क्स रखा। इसके पीछे का तर्क यह था कि उस जोड़े के बीच पहला किस पार्कर (Parker) नामक शहर में हुआ था।

इसके बाद टेलर ने उस जगह को उनकी प्यार की निशानी में बदलकर उनके साथ हमेशा के लिए जोड़ दिया। उसके काम का एक हिस्सा माता-पिता को अपने बच्चों के नामकरण की प्रक्रिया के माध्यम से परामर्श देना है। पेशेवर बेबी नेमर प्रेरणा के लिए फिल्म क्रेडिट से लेकर सड़क के संकेतों तक सब कुछ स्कैन करता है। वह उन नामों का डेटाबेस भी रखती है जो तेजी से गिरावट में हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है